सिखों के प्रथम गुरु नानक देव की 550वीं जयंती पर भारत सरकार करतारपुर साहिब तक कॉरिडोर का निर्माण करेगी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने गुरुवार को यह बात कही। वहीं, विदेश कार्यालय ने यहां कहा कि वह तब तक बहुत कुछ नहीं कर सकता, जब तक कि नयी दिल्ली से इसपर प्रतिक्रिया नहीं आती है। पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पाकिस्तान यात्रा के बाद से ही करतारपुर साहिब कॉरिडोर की चर्चाएं जोरों पर थी. अब इस पर केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला किया है.

कुरैशी का बयान भारत द्वारा करतारपुर साहिब के लिये गलियारे के निर्माण की खातिर पाकिस्तान से अनुरोध करने के कुछ घंटे बाद आया है। सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव ने करतारपुर साहिब में ही आखिरी सांसें ली थीं।   वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कैबिनेट के फैसलों की जानकारी दी. करतारपुर साहिब पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के नरोवाल जिले में है और इसे पंजाब के गुरदासपुर जिले में डेरा बाबा नानक के साथ जोड़ने के लिये एक गलियारे के निर्माण की मांगें की जाती रही हैं। कुरैशी ने एक ट्वीट में कहा, ”पाकिस्तान ने बाबा गुरु नानक की 550 वीं जयंती के लिये करतारपुर गलियारे को खोलने के अपने फैसले से भारत को पहले ही अवगत करा दिया है। प्रधानमंत्री इमरान खान 28 नवंबर को करतारपुर में भूमि पूजन करेंगे। इस शुभ अवसर के लिये हम सिख समुदाय का पाकिस्तान में स्वागत करते हैं

इसके अलावा पाकिस्तान सरकार से अपील की जाएगी वह अपने क्षेत्र के हिस्से में इसके लिए सुविधाएं बढ़ाएं. सरकार ने इसके अलावा ये भी फैसला किया है कि पंजाब के कपूरथला जिले में आने वाले सुल्तानपुर लोधी शहर को स्मार्ट सिटी के तौर पर डेवलप किया जाएगा. बता दें कि इस शहर को ‘पिंड बाबे नानक दा’ के नाम से जाना जाता है.विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि भारत ने सिख समुदाय की भावनाओं के अनुसार अगले साल होने वाली गुरु नानक की 550 वीं जयंती मनाने के लिये गुरुवार को मंत्रिमंडल द्वारा पारित प्रस्ताव के अनुरूप गलियारा बनाने के लिये पाकिस्तान से संपर्क किया है।

केंद्र सरकार के इस फैसले के बाद इस पर क्रेडिट की जंग शुरू हो गई है. केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने कहा कि अकाली दल की अपील पर केंद्र सरकार ने जो फैसला लिया है, वह इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद करती हैं.

वहीं पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने भी सरकार के इस फैसले का स्वागत किया, बता दें कि सिद्धू ने ही अपने पाकिस्तान दौरे के इस मुद्दे को उठाया था.

 

पाकिस्तान के विदेश मंत्री कुरैशी बोले जल्द देंगे GOOD NEWS,करतारपुर गलियारे को खोलने के बारे में