फतेहगढ़ साहब ( हरमन ):- श्री गुरु गोविंद सिंह जी दे छोटे साहबजादे बाबा जोरावर सिंह बाबा फतेह सिंह और जगत माता गुर्जर कौर जी की शहादत को समर्पित शहीदी सिंह सवा दौरान श्री फतेहगढ़ साहिब के अंदर होने वाली राजनीतिक कान्फ्रेंस को लेकर पिछले साल श्री अकाल तख्त साहिब जारी हुए आदेश के ऊपर शिरोमणि अकाली दल और कांग्रेस पार्टी ने ऐलान किया है कि वह अपनी-अपनी राजनीतिक कॉन्फ्रेंस उन्होंने रद्द कर दी थी लेकिन शिरोमणि अकाली दल अमृतसर की तरफ से राजश्री कान्फ्रेंस वहां की गई थी जिसके अंदर शिरोमणी अकाली दल अमृतसर के प्रधान सिमरनजीत सिंह मान एवं पार्टी के दूसरे लोगों ने दूसरी पार्टियों के ऊपर दोष अर्पण किए थे और अब की बार शिरोमणी अकाली दल और कांग्रेस पार्टी शहीदी सिंह सभा के मौके पर अपनी राजश्री कान्फ्रेंस नहीं करेंगे

और इस बात की पुष्टि करते हुए शिरोमणी अकाली दल के प्रवक्ता डॉक्टर दलजीत सिंह चीमा और जिला कांग्रेस कमेटी श्री फतेहगढ़ साहिब के प्रधान हरिंदर सिंह भांबरी ने कहा कि उनकी पार्टियां अपने कोई भी राजश्री कान्फ्रेंस नहीं करेंगे और इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी के सीनियर लीडर श्री फतेहगढ़ साहिब के महान शहीदों को अपनी श्रद्धांजलि भेंट करने के लिए गुरुद्वारा श्री फतेहगढ़ साहिब के अंदर नतमस्तक होंगे शिरोमणि अकाली दल के सीनियर प्रवक्ता डॉ दलजीत सिंह चीमा ने कहा कि श्री फतेहगढ़ साहिब के अंदर शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की तरफ से केवल धार्मिक स्टेज लगाई जाएगी जिसके अंदर पंथ विचार किए जाएंगे और कीर्तन कथावाचक महान शहीदों की कुर्बानी ओं की गाथाएं सिख संगत को सुनाएंगे

शिरोमणि अकाली दल के सीनियर प्रवक्ता ने कहा शहीदी सिंह सभा के दौरान शिरोमणी अकाली दल के सरपरस्त सरदार प्रकाश सिंह बादल प्रधान सरदार सुखबीर सिंह बादल और पार्टी के सभी सीनियर लीडर श्री फतेहगढ़ साहब गुरुद्वारा श्री फतेहगढ़ साहिब के महान शहीदों को श्रद्धांजलि भेंट करने के लिए जाएंगे और शिरोमणि अकाली दल अमृतसर के सीनियर प्रवक्ता मीडिया सलाहकार इकबाल सिंह तिवाना ने स्पष्ट किया कि उनकी पार्टी की तरफ से 27 दिसंबर को पिछले स्थान के ऊपर श्रद्धांजलि कॉन्फ्रेंस की जाएगी क्योंकि मीरी पीरी के सिद्धांत के अनुसार धर्म और राजनीति सिख कौम के लिए इकट्ठी है इस कांफ्रेंस को पार्टी प्रधान सिमरनजीत सिंह मान और उनके सभी लीडर आज के हालातों के ऊपर चर्चा करेंगे और

और आपको बता दें कि इन सभी कॉन्फ्रेंस ओं के अंदर सभी अलग-अलग पार्टियां एक दूसरी पार्टी के ऊपर शब्दों के जरिए दूषण बाजी करती हैं और देश और विदेश से लाखों की गिनती में सिख श्रद्धालु श्री फतेहगढ़ साहिब के इन महान शहीदों को श्रद्धांजलि भेंट करने के लिए पहुंचते हैं लेकिन वहां पर एसी राजनीतिक कॉन्फ्रेंस ओं को देखकर उनको अच्छा नहीं लगता और अब इस फैसले से सिख संगत के अंदर काफी अच्छा महसूस किया जा रहा है और इस फैसले की बहुत तारीफ की जा रही है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here