भोपाल (उमाशंकर त्रिपाठी):- मध्य प्रदेश में 8 साल की एक बालिका के साथ दुष्कर्म करके उसकी हत्या करने का एक मामला भोपाल की अदालत में आया और मात्र 32 दिनों की सुनवाई के बाद एक व्यक्ति को अदालत ने दोषी करार करते हुए फांसी की सजा सुना दी है

बीजेपी विधायक की बेटी ने दलित युवक से शादी की और अब एक वीडियो जारी हुआ “पापा कर देंगे मेरा कत्ल”

मध्य प्रदेश अभियोजन के जनसंपर्क अधिकारी सुधा विजय सिंह भदौरिया ने गुरुवार को यह बात बताई कि विशेष न्यायाधीश कुमुदिनी पटेल ने इस पूरे मामले के आरोपी बिष्णु बामोरे को दोषी करार देते हुए बच्चे की हत्या और 12 वर्ष से कम उम्र की बालिका के साथ दुष्कर्म मामलों में दो अलग-अलग धाराओं के अधीन फांसी की सजा सुना दी है

World Cup 2019 ENG vs AUS: इंग्लैंड की टीम 27 साल के बाद विश्व कप फाइनल में पहुंची जेसन रॉय की तूफानी पारी के आगे कंगारू नजर नहीं आए

विजय सिंह भदौरिया ने यह भी बताया कि दोषी को बच्ची के साथ अप्राकृतिक यौन संबंध बनाने के लिए आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है और इसके साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि भोपाल और सागर फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला में किए गए परीक्षण की रिपोर्ट और अन्य महत्वपूर्ण पहलू के आधार पर बिष्णु बामोरे को दोषी ठहराया और इसके साथ-साथ अभियोजन के पक्ष में 30 गवाहों ने अदालत में अपना बयान दर्ज करवाया तो अदालत ने मात्र 32 दिनों की सुनवाई में यह फैसला दिया है

राहुल गांधी डेढ़ महीने बाद अमेठी पहुंचे भावुक हुए, कमजोर संगठन को जिम्मेवार ठहराया