नई दिल्ली (उमाशंकर त्रिपाठी):”- पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की ओर से गुरुवार शाम मतलब आज भारतीय फौज के विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा करने और भारत को सौंपने का एक बड़ा ऐलान किया गया था और आज पूरा देश भारतीय एयर फोर्स के विंग कमांडर का इंतजार कर रहे हैं पहले देश के इस वीर सपूत को पाकिस्तान की तरफ से 10:00 बजे के करीब अटारी बॉर्डर के ऊपर पहुंचना था लेकिन बाद में विंग कमांडर को शाम तक सब देश पहुंचाने की खबर है और आपको बता दें कि आज विंग कमांडर अपने देश भारत में आ जाएंगे और आपको यह भी बता दें कि विंग कमांडर पाकिस्तान से भारत आने के लिए कौन से रास्ते से होकर पहुंचेंगे 27 फरवरी को भारतीय वायु सेना में घुसकर आयु सीमा में घुसकर पाकिस्तानी वायु सेना को खदेड़ने के चक्कर में विंग कमांडर पाकिस्तानी अधिकृत सीमा में प्रवेश कर गए थे और उसके बाद तकनीकी खराबी की वजह से उनका जहाज क्रैश हो गया और पैराशूट के जरिए वह पाकिस्तान की सर जमीन पर सेफ लैंड हो गए और पाकिस्तानी सुरक्षा बलों ने पकड़ लिया भारत के कड़े रुख के बाद पाकिस्तान को अभिनंदन कुशल छोड़ने की चर्चा दोनों देशों के अंदर शुरू हो गई और उसके बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने यह ऐलान किया कि वह हिंदुस्तान के पायलट को सही सलामत भारत के हवाले कर देंगे आज शुक्रवार की शाम अभिनंदन पाकिस्तान के बाघा बॉर्डर से होते हुए देश की सीमा अटारी बॉर्डर के ऊपर पहुंचेंगे अभिनंदन इससे पहले पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में रहे और इस्लामाबाद के बाद उनको लहार लाया गया और उसके बाद लोहार लाने के बाद उनको भारतीय सीमा से सटे बाघा बॉर्डर तक लाया जाएगा फिर अटारी पर उन्हें पाकिस्तानी सेना ने भारतीय अधिकारियों को सौंप दिया जाएगा

अटारी बॉर्डर के ऊपर भारतीय सीमा के बाद विंग कमांडर को अमृतसर एयरपोर्ट लाया जाएगा और उसके बाद स्पेशल प्लेन के साथ उनको अमृतसर एयरपोर्ट से दिल्ली लाया जाएगा अमृतसर एयरपोर्ट के ऊपर वायु सेना का विशेष वाहन उनका इंतजार सुबह से ही कर रहा है और माना जा रहा है कि दिल्ली पहुंचने के बाद उनसे पाकिस्तानी सीमा में जाने की घटना के बारे में पूछा जाएगा और वहां पर उनके साथ किए गए व्यवहार के बारे में पूछताछ की जा सकती है.

 आपको यह भी बता दे कि पाकिस्तान के अंदर अभिनंदन को सही सलामत हिंदुस्तान को वापस देने के लिए एक बड़ी मुहिम शुरू की गई थी और इस मुहिम के दौरान पाकिस्तान की अवाम की तरफ से एक बड़ा जलसा भी किया गया था और इसमें तमाम उम्र के लोग जिसमें खासतौर पर लड़कियां और औरतें वहां पर पहुंची थी और हाथों में तख्तियां उठाकर पाकिस्तान सरकार से इस बात की मांग कर रही थी कि हिंदुस्तान के इस पायलट को सकुशल भारत के हवाले कर देना चाहिए और वही पाकिस्तान के साथ सटे अफगानिस्तान के अंदर भी इस जांबाज पायलट की खूब चर्चा हो रही है और पाकिस्तान के अंदर बहुत से लोग इस पायलट के दीवाने हो गए हैं