नई दिल्ली (उमाशंकर त्रिपाठी):- दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल प्रदेश में नजदीक आते चुनाव के तहत दिल्लीवासियों के लिए अब कई ऐसी योजनाएं लेकर आ रहे हैं जिससे आम लोगों को ज्यादा लाभ मिलेगा और इसी के चलते दिल्ली के मुख्यमंत्री तीर्थ यात्रा योजना के तहत यात्रियों का पहला जत्था 12 जुलाई को रवाना होगा और इससे पहले आपको बता दें कि गुरुवार को 4 मई जुलाई को दिल्ली के मुख्यमंत्री माननीय अरविंद केजरीवाल जी ने यात्रियों से मुलाकात की सभी यात्रियों को दिल्ली सचिवालय परिसर में बुलाया जहां खुद अरविंद केजरीवाल ने और मनीष सिसोदिया ने सभी बुजुर्ग यात्रियों से बातचीत की और आपको बता दें कि मुख्यमंत्री तीर्थ योजना के तहत दिल्ली अमृतसर वाघा बॉर्डर आनंदपुर साहब  कोरिडोर की यात्रा के लिए पहले जत्थे को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल 12 जुलाई को सफदरजंग स्टेशन से रवाना करेंगे दिल्ली वैष्णो देवी जम्मू की यात्रा 20 जुलाई से 24 जुलाई तक चलेगी और खास बात यह है कि अरविंद केजरीवाल ने यह भी ऐलान कर दिया कि 20 जुलाई को होने वाली वैष्णो देवी यात्रा में मुख्यमंत्री और दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी सभी यात्रियों के साथ रवाना होंगे
दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली के वरिष्ठ नागरिकों को तीर्थ यात्रा पर ले जाने का सपना दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने देखा था आज वह साकार होने जा रहा है बेटा जब किसी लाइक बनता है तो बड़े बुजुर्गों को तीर्थ यात्रा के ऊपर लेकर जाता है यह सोच को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पार्टी बनाई थी कि नेता आम आदमी की तरह रहेगा और आम आदमी खास आदमी की तरह रहेगा नेताजी ने अपनी खुशी छोड़ कर अपने बुजुर्गों को कुर्सी के ऊपर बैठा कर उनका मान सम्मान बढ़ाया है अब तक हज के लिए बात कर रहे थे लेकिन पहली बार आनंदपुर साहिब वैष्णो देवी और राम मंदिर जाने की बात वह कर रहे हैं
इस तीर्थ यात्रा योजना को पुष्प का काम बताते हुए पुण्य का काम बताते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने यह बात बताई कि पिछले 5 सालों में हमने बहुत सारे काम जिले के लिए की है जिसमें दिल्ली में सस्ती बिजली दी पानी दिल्लीवासियों को मुफ्त दिया गया स्कूलों को दुरुस्त किया गया दिल्ली के लोगों को दवा बिल्कुल मुफ्त दी गई लेकिन यह काम हमारी सरकार ने सबसे पुण्य का काम किया है विपक्षी पार्टी ने हमारा मजाक उड़ाया है कि केजरीवाल पैसे लौटा रहे हैं तो मैं उनको जवाब देते हुए यह कहा कि मैं यह पैसे बुजुर्गों पर लुटा रहा हूं इस तीर्थयात्रा का सारा पुण्य दिल्ली के लोगों को लगेगा क्योंकि उनके टैक्स के पैसे आप दे रहे हैं तो आप के ऊपर यह पैसे लग रहे हैं थोड़ा सा पुण्य हमें भी मिलेगा क्योंकि हम निमित्त बने हैं.”