नई दिल्ली (पलक गुप्ता):- भारत में एक तरफ जहां वर्ल्ड कप की तैयारियां जोरों शोरों से है वहीं 14 तारीख को पाकिस्तान की तरफ से पुलवामा में एक बड़ा आतंकी हमला हुआ जिसमें सीआरपीएफ के 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए और उसके बाद भारत और पाकिस्तान के क्रिकेट मैच को लेकर विरोध होने लगा भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड का कामकाज देख रहे 2 सदस्य प्रशंसकों की समिति सीओए ने आज शुक्रवार को एक बड़ी बैठक करनी है जिसमें वह इस साल इंग्लैंड में होने जा रहे वन डे विश्वकप के अंदर पाकिस्तान के साथ भारत खेलेगा या नहीं खेलेगा इसके ऊपर चर्चा कर सकती है और पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय क्रिकेट टीम के कई खिलाड़ियों ने इसका विरोध किया है और कहा है कि वह पाकिस्तान के साथ नहीं खेलेंगे और इन खिलाड़ियों में कुछ खिलाड़ी पूर्व हैं कुछ खिलाड़ी मौजूद है और साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि अगर भारत विश्व कप में पाकिस्तान के साथ खेलता है तो भारत नहीं खेलता है तो भारत को अंको का बड़ा नुकसान होगा

मिली जानकारी के अनुसार COA सीओए ने बुधवार को BCCI बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी (CEO) अधिकारी राहुल जोहरी से यह बात कही थी कि वह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद आईसीसी को एक पत्र लिखकर पाकिस्तान को विश्व कप से प्रतिबंध करने की बात कहेंगे अगर भारत ऐसा करता है तो उसके लिए नुकसानदायक कदम हो सकता है वह इसलिए क्योंकि बाकी देश पाकिस्तान का बहिष्कार करें और भारत का समर्थन करें तब जाकर इसका फैसला हो सकता है

वहीं अगर BCCI बीसीसीआई ICC आईसीसी को इस तरह का पत्र लिखती भी है तो उसे अप्रैल में होने वाले बोर्ड की वार्षिक आम बैठक में सर्व सहमति हासिल करनी पड़ेगी भारत को आईसीसी ICC में बहुत बहुमत हासिल नहीं हुआ है ऐसे में उसका यह मुद्दा उठाना भारत के 2021 में होने वाली चैंपियन ट्रॉफी और 2023 में होने वाले विश्व कप की मेजबानी के ऊपर भी बड़ा खतरा पैदा कर सकती है

सीओए COA के अध्यक्ष विनोद राय और डायना इडुल्जी के बीच आज यह होने वाली बड़ी बैठक पहले एक एक बैठक के तौर पर इसको देखा जा रहा है और इसमें आप मुद्दों पर चर्चा की जाएगी लेकिन पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से देश में बने माहौल को ध्यान में रखते हुए पाकिस्तान के मुद्दे के ऊपर भी बड़ी चर्चा हो सकती है बीसीसीआई इस मुद्दे को 27 फरवरी से 2 मार्च के बीच होने वाली आईसीसीआई की बड़ी खास और अहम बैठक के अंदर उठा सकती है