पटना :-(उमाशंकर त्रिपाठी):- बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और लालू प्रसाद यादव के सबसे बड़े पुत्र तेज प्रताप यादव के स्वर सुरक्षाकर्मियों ने मीडिया के कई लोगों के साथ बदसलूकी की है और उन मीडिया कर्मचारियों के साथ मारपीट भी की है और इस पूरी घटना के दौरान एक अखबार के फोटोग्राफर को भी काफी चोटें आई है ऐसी खबरें निकल कर आ रही हैं लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने अपने समर्थकों के साथ वोट डालने पटना के वेटरनरी कॉलेज मैदान स्थित मतदान केंद्र के ऊपर अपने पूरे काफिले के साथ पहुंचे और उसी वक्त यह बड़ी घटना घटी इस मामले में जब तेज प्रताप यादव से सवाल पूछा गया तो लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव ने सफाई देते हुए यह बात कही कि हमारी गाड़ी का कांच फोड़ आ गया और हमारे लोगों के ऊपर और मेरे ऊपर जानलेवा हमला किया गया है और तेज प्रताप यादव ने इस बात से भी साफ इंकार कर दिया कि उनके सुरक्षा कर्मचारियों ने किसी के साथ कोई मारपीट की भी है या नहीं उनका कहना है कि हमने किसी के साथ कोई मारपीट नहीं की है

और वहीं दूसरी तरफ घायल मीडिया कर्मी का आरोप है कि उनके पैर के ऊपर तेज प्रताप यादव ने अपनी गाड़ी चढ़ाई थी जिसके बाद उसने अपने हाथ से गाड़ी को धक्का मारा था और आपको बता दें कि यह कोई पहला मामला नहीं है कि जब तेज प्रताप यादव के बॉडीगार्ड ने ऐसी किसी घटना को अंजाम दिया हो इससे पहले भी तेज प्रताप यादव के बॉडीगार्ड ने एक बरात के दौरान बारातियों के साथ बड़ी लड़की थी और इसमें बरात वाले लोगों की जमकर पिटाई की गई थी आप को जरा यह भी बता दें कि लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव अपनी सुरक्षा के लिए सरकारी गार्ड तो रखते ही हैं लेकिन इसके अलावा वह अपने साथ  बाउंसरों की टोली को भी साथ लेकर चलते हैं

इससे पहले भी बिहार बिहार विधानसभा के अंदर निजी बॉडीगार्ड्स और  बाउंसरों को लेकर बड़े सवाल खड़े हुए थे कि यह लोग अंदर कैसे आ जाते हैं तेज प्रताप यादव के गार्ड द्वारा की गई मारपीट की घटना को लेकर फिर से राजनीति तेज हो चुकी है पत्रकारों से जुड़े अलग-अलग संगठनों ने दूसरों के ऊपर कार्यवाही करने की मांग की है और जहां पूरे देश में लोकसभा चुनाव को लेकर सभी नेता बहुत सावधानी पूर्व बातें कर रहे हैं बयान बाजी कर रहे हैं और ऐसे में तेज प्रताप यादव का मीडिया के ऊपर बड़ा हमला कहीं ना कहीं आरजेडी के लिए बड़ी मुश्किल खड़ी कर सकता है