लखनऊ (उमाशंकर त्रिपाठी ) उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में रविवार के दिन बहुजन समाजवादी पार्टी बीएसपी की एक बहुत ही अहम बैठक हुई और बहुजन समाजवादी पार्टी की इस बैठक में पार्टी को लेकर कई बड़े बदलाव किए गए इसमें बहुजन समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो मायावती ने पार्टी उपाध्यक्ष पद पर अपने भाई आनंद कुमार को बैठा दिया है जबकि से पहले बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने आनंद कुमार को पार्टी के उपाध्यक्ष पद से हटाया था लेकिन अब एक बार फिर से उन्होंने बहुजन समाजवादी पार्टी में नंबर दो की पोजीशन अपने भाई आनंद कुमार को दे दी है
बहुजन समाजवादी पार्टी की इस बैठक के अंदर बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के ऊपर भी जमकर बड़ा हमला खुला बोला सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार इस बैठक के अंदर बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने करीब 25 मिनट तक अपना भाषण दिया जिस में मायावती ने कहा कि एसपी के लोग यह कह रहे हैं कि उनकी बदौलत बीएसपी को प्रदेश में 10 सीटें मिली हैं तो वह लोग अपने गिरेबान में थोड़ा झांक कर देखें सच्चाई यह है कि समाजवादी पार्टी अगर 5 सीटें ही जीत पाई तो सिर्फ इसलिए कि बहुजन समाजवादी पार्टी ने उनका साथ दिया था उपचुनाव में हमें यह देखना है कि यह जीत हमारी अकेले की जीत है जिसका क्रेडिट समाजवादी पार्टी के लोग ले रहे हैं
बहुजन समाजवादी पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने यह भी कहा कि समाजवादी पार्टी के लोगों ने चुनाव में बड़ा धोखा दिया कई जगहों पर बहुजन समाजवादी पार्टी को एस पी के नेताओं ने हराने का बड़ा काम किया धार्मिक ध्रुवीकरण को लेकर समाजवादी पार्टी काफी डरी हुई थी इसीलिए वह खुलकर मुद्दों को उठाने से कतराती नजर आई मायावती ने यह भी कहा कि पार्टी के वरिष्ठ नेता सतीश चंद्र मिश्रा की तारीफ की और कहा कि जो लोग उनकी शिकायत कर रहे हैं वह जान लें कि सतीश चंद्र मिश्रा मुश्किल वक्त में बहुजन समाजवादी पार्टी और मेरे साथ खड़े रहे पार्टी ने पुराने वक्त को भी याद किया और कहा कि मेरे ऊपर दर्ज केसों में समाजवादी पार्टी के नेताओं का एक बड़ा और अहम रोल है
इसके अलावा बहुजन समाजवादी पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी पर बहुजन समाजवादी पार्टी के खिलाफ प्रचार करने का एक बड़ा आरोप लगाया जिसमें मायावती ने कहा कि अखिलेश यादव से कई बार शिरकत की मगर भीतर घाट होता रहा अखिलेश यादव ने अपने लोगों पर कोई कार्यवाही तक नहीं की नतीजे आने के बाद भी संपर्क किया मगर अखिलेश ने कोई बात नहीं की. मुझे उन्हें बताना चाहिए था कि आप के लोगों ने कहां-कहां सहयोग नहीं किया.
समाजवादी पार्टी के अखिलेश यादव के ऊपर कड़ा प्रहार करते हुए बहुजन समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो मायावती ने कहा कि गठबंधन के चुनाव हारने के बाद अखिलेश यादव ने मुझे फोन तक भी नहीं किया जबकि सतीश चंद्र मिश्रा ने उन्हें फोन कर मुझसे बात करने के लिए भी कहा था लेकिन इसके बावजूद भी समाजवादी पार्टी के अखिलेश यादव ने उनके साथ कोई भी संपर्क नहीं किया
बहुजन समाजवादी पार्टी की बैठक में बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कहा कि मैंने बड़े होने का फर्ज निभा दिया और काउंटिंग के दिन उन्होंने फोन कर परिवार के हारने पर अप्पू स्विच था 3 जून को जब दिल्ली में मीटिंग में गठबंधन तोड़ने की बात हुई तभी उन्होंने मिश्रा जी को फोन किया लेकिन मुझसे कोई बात नहीं की गई उन्होंने मुझे मैसेज भेजो आया कि मैं मुसलमानों को ज्यादा टिकट ना दो इससे धार्मिक ध्रुवीकरण होगा लेकिन मैंने उनकी बात नहीं मानी
बहुजन समाजवादी पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने कहा कि अखिलेश यादव के राज्य में है गैर यादव पिछड़ा के साथ नाइंसाफी हुई है इसलिए उन्होंने गठबंधन को वोट नहीं दिया समाजवादी पार्टी ने दलितों को प्रमोशन का विरोध किया था इसलिए उन्होंने हमारा विरोध जमकर किया बहुजन समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष को एसपी के बड़े नेताओं ने हरवाया है उन्होंने अपना वोट बहुजन समाजवादी पार्टी के बजाय बीजेपी को ट्रांसफर करवाया है और इसके साथ-साथ उन्होंने कहा कि बहुजन समाजवादी पार्टी किसी भी मुद्दे पर कोई भी धरना प्रदर्शन बिल्कुल भी नहीं करेगी