Chandrayaan 2 ISRO fixed day and date to land and what will be new on the moon now?
श्रीहरिकोटा (उमाशंकर त्रिपाठी):- चंद्रमा के ऊपर यान भेजने का भारतीय अभियान अब अपने दूसरे पड़ाव पर है श्रीहरिकोटा से चंद्रयान-२ chandrayaan-2 के लिए अब पूरे 20 घंटे का काउंटडाउन शुरू होगा और इस चंद्रयान को 15 जुलाई के दिन लांच किया जाएगा चंद्रयान 2 को जीएसएलवी MK-3 लांच vehicle के जरिए अंतरिक्ष के अंदर छोड़ा जाए और आपको बता दें यह भारत का पहला मून लैंड और रोवर मिशन है
जीएसएलवी रॉकेट से चंद्रयान 2 को धरती की कक्षा के अंदर लांच किया जाएगा और वही धरती की कक्षा में पहुंचने के बाद चंद्रयान 2 मिशन का इंटीग्रेटेड मॉड्यूल ऑर्बिटल प्रपल्शन मॉड्यूल का इस्तेमाल करके चंद्रमा की कक्षा में पहुंचेगा और वैज्ञानिकों के मुताबिक यह कोई आसान काम नहीं है
धरती की कक्षा में स्थापित होने के बाद चंद्रयान 2 को चंद्रमा की कक्षा में पचाने में लगभग 1 महीने का वक्त तो लगेगा और उसके बाद चंद्रमा की कक्षा में पहुंचने के बाद चंद्रयान 2 को चंद्रमा की सतह पर उतारने की तैयारी भी साथ के साथ शुरू कर दी जाएगी
आप सबको बता दें चंद्रयान-2 के आर्बिटल और लैंडर मॉड्यूल आपस में मकैनिकली जुड़े होते हैं और इन दोनों को इंटीग्रेटेड मॉड्यूल की तरह लांच रॉकेट के अंदर की तरफ रखा जाता है रोवर मॉड्यूल लैंडर के अंदर होगा और वही चंद्रयान-2 के चंद्रमा की सतह पर उतरने के लिए लैंडर मॉड्यूल ऑर्बिटल से एकदम अलग हो जाए ग लैंडर मॉड्यूल चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव के पास निर्धारित जगह पर सॉफ्ट लैंडिंग करेगा इसरो ने इस लैंडिंग के लिए 6 सितंबर की तारीख को तय कर दिया है