Connect with us

होम

Zomato के खिलाफ अब भारत में होने लगा है प्रदर्शन, कर्मचारियों ने छोड़ दी नौकरी और जलाई कंपनी की टी-शर्ट.

Published

on

India the fierce indignation against the Zomato
Photo : social Media

नई दिल्ली ( 28 जून 2020 Parmjeet Bhakna ):- भारत और चीन कि सीमा विवाद के ऊपर हर रोज ऑनलाइन और दूसरे मीडिया के प्लेटफार्म के माध्यम से हम लोग अक्सर यह खबरें सुनते हैं कि भारत में अब चीन की चीजों का बायकाट किया जाएगा. इसमें चीन के बहुत से ऐसे सोशल मीडिया एप्स हैं जिनको अपनी जिंदगी में हम रोज यूज करते हैं और इन एप्स में एक ऐप है जो आपको आपके दफ्तर, घर और कहीं दूसरी जगहों पर जहां आप अपने मनपसंद की कोई भी चीज मंगवाना चाहते हैं वह डिलीवर करता है. जी हां हम बात कर रहे हैं जोमैटो की…

भारत में कोरोनावायरस का कहर,8 राज्यों का है सबसे बुरा हाल, 87% मौतें और 85% हो चुके हैं केस.

इस कंपनी के कुछ कर्मचारियों ने गलवान घाटी के अंदर चीनी सैनिकों के साथ हुई भारतीय सैनिक झड़प के दौरान 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए. अब इन कर्मचारियों ने चीन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जताते हुए कोलकाता के अंदर कंपनी का टीशर्ट फाड़े और जला डाले. बेहाला में प्रदर्शन के दौरान उसमें शामिल कुछ लोगों ने इस बात का बड़ा दावा किया है कि उन्होंने जोमैटो की नौकरी को छोड़ डाला. क्योंकि इस कंपनी के अंदर भी चीन का निवेश.

भारत ने लद्दाख में एयर डिफेंस मिसाइलों को किया तैयार, दुश्मन को हवा में ही कर सकती है नष्ट

इसके साथ ही इन कर्मचारियों ने जोमैटो के जरिए भोजन का आर्डर नहीं करने का अनुरोध भी लोगों से किया है. आपको बता दें कि चीन की कंपनी अलीबाबा से जुड़े एंट फाइनेंशियल ने 2018 के अंदर जोमैटो में 21 करोड़ डॉलर का निवेश कर उसकी 14.7 साझेदारी (शेयर) को खरीद लिया था जो ने हाल के दिनों में एंट फाइनेंशियल से 15 करोड़ डॉलर की राशि भी जुटाई.

इन सभी प्रदर्शनकारियों में से एक व्यक्ति ने बताया कि चीनी कंपनियां यहां से मुनाफा कमा रही हैं और हमारे सैनिकों के ऊपर ही हमले करवा रही हैं. वह हमारी भूमि हथियाना चाहती है और भारत के लोग ऐसा बिल्कुल भी नहीं होने देंगे.

आईसीसी को है भरोसा कोरोना महामारी के बीच T20 वर्ल्ड कप हो सकता है

आपको बता दें कि मई महीने के दौरान जोमैटो ने अपने 13% कर्मचारियों 520 लोगों को कोविड-19 महामारी का हवाला देकर नौकरी से बाहर का रास्ता दिखा दिया था. जो जोमैटो से इस संबंध में तत्काल कोई प्रतिक्रिया अभी तक नहीं मिली है और ना ही इस बारे में कोई जानकारी आई है प्रदर्शन करने वाले लोग कहीं नौकरी से निकाले गए कर्मचारी तो नहीं हैं. ऐसी खबर नहीं आई है लेकिन जैसे देश में चीनी कंपनियों के प्रोडक्ट को लेकर रोष प्रदर्शन चल रहा है. उसको देखते हुए कहा जा सकता है कि चीन के लिए आने वाले दिन काफी मुश्किलों भरे हो सकते हैं.

thestatusraja

Trending