नई दिल्ली (उमाशंकर त्रिपाठी) पूरी दुनिया में वर्ल्ड कप क्रिकेट को लेकर सब तरफ उत्साह है फिर वह चाहे हिंदुस्तान हो जा पाकिस्तान आईसीसी विश्व कप मैच 16 जून को भारत और पाकिस्तान के बीच एक बड़ा मैच खेला जाना है जिसको लेकर अलग अलग खिलाड़ियों ने अपनी अपनी प्रतिक्रिया देनी शुरू कर दी है और इसी के चलते पाकिस्तान के पूर्व कप्तान मोहम्मद यूसुफ ने विश्व कप में भारत के खिलाफ मैच से पहले खिलाड़ियों के साथ उनके परिवार को रहने की अनुमति देने के पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के फैसले पर कड़ी नाराजगी जताई है

आपको बता दें कि पाकिस्तानी खिलाड़ियों की पत्नियां और भारत के खिलाफ मैच से पहले मैनचेस्टर पहुंच गए पाकिस्तान के पूर्व कप्तान मोहम्मद यूसुफ का यह कहना है कि मैं 1999, 2003 और 2007 के बीच में खेला था पाकिस्तानी टीम के खिलाड़ियों के साथ रहने की इजाजत नहीं दी थी उनका मानना है कि इतने बड़े नाम थे कि यदि हम दबाव डालते तो बोर्ड पत्नियों और बच्चों को साथ रखने की अनुमति अवश्य देता
पाकिस्तान के पूर्व कप्तान यूसुफ ने यह भी बताया कि हमने ऐसा नहीं किया क्योंकि विश्व कप में सभी टीमों के ऊपर काफी दबाव होता है और खिलाड़ी पूरा फोकस खेल पर ही करना चाहते हैं इंग्लैंड में 1999 में भी यही हुआ था यूसुफ का कहना है कि बोर्ड ने कभी भी वनडे सीरीज और टूर्नामेंट में भी परिवार को खिलाड़ियों के साथ रहने की कभी भी कोई इजाजत नहीं दी है और यह सब का कहना है कि अगर इतना ही जरूरी था तो विश्व कप की शुरुआत से पहले ही खिलाड़ियों के परिवार को साथ रहने दिया जाता है

अब इतने हम मैच से पहले यह फैसला हमारे समझ से बाहर है इसे खिलाड़ियों का ध्यान बटेगा और आपको बता दें कि भारत और पाकिस्तान के मैच को लेकर जहां पूरी दुनिया अपनी निगाहें जमा कर बैठी है वही 16 जून को एक बड़ा महा मुकाबला भारत और पाकिस्तान के बीच आईसीसी विश्व कप के मैच खेला जाएगा इसको लेकर पूरी तरह से तैयारियां हो चुकी हैं अब देखना होगा कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड का लिया यह फैसला पाकिस्तानी टीम के लिए फायदेमंद होगा या नुकसानदेह होगा