नई दिल्ली (उमाशंकर त्रिपाठी):- इंसान को जीवित रहने के लिए भोजन की बहुत ज्यादा आवश्यकता है अगर इंसान भोजन नहीं खाएगा तो वह मर जाएगा लेकिन क्या आपका खाना आपको पर्याप्त पोषण दे रहा है दिन में तीन बार खाना खाने के बाद आपको ऐसा क्यों होता है कि कोई तंदुरुस्त है और कोई कमजोर और आप अगर बहुत ज्यादा बीमार हो रहे हैं तो हो सकता है कि आपका खाना स्वादिष्ट या हेल्दी नहीं है जिसको आप खा रहे हैं क्या वह खाना आपको पूछा पोषक तत्व दे रहा है जो आप खा रहे हैं मतलब आप को “बीमार” कर रहा है वह खाना तो अगर ऐसा है तो आप जान लीजिए आपका खाना आपको क्या दे रहा है आपका खाना कितना फायदेमंद है और आपके लिए वह खाना कितना नुकसान दे है
जानकारों की माने डाइटिशियन मेघा पटनायक के अनुसार इंसान को उसकी आयु के हिसाब से भी विभिन्नता तरह के पोषण की आवश्यकता हमेशा रहती है क्योंकि इससे शरीर मजबूत होता है और शरीर बीमारियों से लड़ने के लिए भी तैयार रहता है अगर पोषण की आवश्यकता पूरी ना हो तो शरीर धीरे-धीरे कमजोर होने लगता है और बीमारियों से लड़ने की ताकत उसकी कम हो जाती है जिससे बीमारियों का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है और यह शरीर के साथ-साथ मानसिक बीमारियों का भी कारण बन सकता है जो सबसे गंभीर स्थिति है
गैस कब्ज या पाचन की दिक्कत है तो यह कीजिए
हर व्यक्ति आजकल गैस की बीमारी से पीड़ित शरीर में गैस हुई तो इसके साथ-साथ आपको कई तरह की मुश्किलें देखने को मिल जाती है अगर आप को दस्त गैस कब जीजा पाचन संबंधी दिक्कत है तो आपके खाने की वजह से ही यह सब आपके शरीर में हो रहा है ऐसे में आपको करीब 1 महीने के लिए रोटी पराठा जा गेहूं से बने खाद्य पदार्थ बंद कर देना चाहिए अगर इसे आपको कोई लाभ होता है तो ऐसा ग्लूटोन एलजी की वजह से हो रहा है
गर्भधारण में परेशानी है
अगर आपको लंबे समय से गर्भधारण की मुश्किलें आ रही हैं आप घर प्यार करने की कोशिश कर रहे हैं हर बार आप विफल हो रहे हैं इसकी एक बड़ी वजह ग्लूटेन एलर्जी खोसा इसका असर केवल महिलाओं पर ही नहीं पुरुषों पर भी उतना ही पड़ता है इस बात को भी समझना अति आवश्यक है ग्लूटेन एलर्जी एकमात्र कारण है
पूरे शरीर पर लाल चकत्ते
अगर आपके शरीर पर लाल रंग के चकत्ते करते हैं यह एक आम समस्या है ऐसा एलर्जी की वजह से हो सकता है और जिसका मतलब यह है कि आपने कुछ ऐसा है जो आपका शरीर उसको पचाने में तैयार नहीं है उस खाने को वह स्वीकार नहीं कर रहा ऐसे में चकत्ते होने पर आप को ध्यान से सोचना चाहिए कि आपने हाल फिलहाल में ऐसा क्या खाना खाया था जिससे आपके शरीर में ऐसा बदलाव आ गया अगर आपने अपने खाने में कुछ बदलाव किया है तो कुछ दिनों के लिए इस बदलाव को वहीं रोक दें फिर देखिए आपको कोई फर्क पड़ा है या नहीं
याददाश्त कमजोर भूलने की बीमारी
अगर आपकी याददाश्त कमजोर दिन-प्रतिदिन हो रही है और आपकी जो को रखकर यह किसी बात को बहुत जल्दी भूल जाते हैं तो यह एक गंभीर बीमारी हो सकती बात-बात पर असमंजस या ध्यान ना लगना भी इसकी एक बड़ी निशानी इसके लिए आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए इसकी वजह भी ग्लूटोन एलर्जी हो सकती है और जल्दी से जल्दी आपको अपने डॉक्टर से इस बीमारी के बारे में बात करनी चाहिए