Gurdaspur (Reporter.Sukhbir singh ):-एक तरफ सरकार पंजाब को नशा मुक्त करने का दावा ठोक रही है लेकिन यह दावे केवल भाषणों तक ही सीमित तक रह जाते है जमीनी स्तर पर हकीकत कुछ और ही देखने को मिल रही है एक ऐसी ही हकीकत देखने को मिली गुरदासपुर की बटाला पुलिस के अधीन पड़ते गांव अलीवाल में यहां एक बहन अपने भाई को नशे की दलदल से बाहर निकालने के लिए पुलिस से हाथ जोड़ कर बार बार रिक्वेस्ट करती दिखाई दी के उसके भाई को गिरफ्तार कर लो क्योंकि भाई ने नशे के लिए जमीन बेच दी घर का समान बेच डाला लेकिन पुलिस ने भी पीडत बहन की तब सुनी जब मीडिया के सामने यह मसला आया
बटाला पुलिस के अधीन पड़ते कस्बा अलीवाल के नजदीकी गांव की युवती जिसने 26 वर्षीय भाई का नशा छुड़वाने के लिए दृढ़ संकल्प ले लिया , भाई को नशे की दलदल से बाहर निकालने के लिए बार बार पुलिस का दरवाजा खटखटाया लेकिन पुलिस फिर भी नही जागी थक हार कर युवती ने मीडिया की मदद ली जैसे ही मामला मीडिया में आया पुलिस जागी और युवती के भाई को गिरफ्तार कर उसका नशा छुड़वाने के लिए उसको नशा छुड़ाओ केंद्र में दाखिल करवाने की करवाई शुरू की , बहन का मकसद सिर्फ भाई को पकड़वाना ही नही था
बल्कि भाई को नशा मुक्त करवाने का था बहन मनप्रीत का कहना था के वह ड़ो भाई बहन है उनके माता पिता का देहांत हो चुका है उसके बाद उसने भाई का साथ देकर मेहनत से घर का सारा कीमती सामान बनाया और दोनों ने अपनी अपनी शादी भी कर ली , लेकिन कुछ समय पहले उसका भाई नशा तस्करों के जाल में जा फंसा और उनके साथ मिलकर नशा बेचने लगा और खुद भी नशा करने लगा जिसके कारण भाई की बीवी उसको छोड़ कर चली गई
नशे के आदि हो चुके भाई ने नशे की पूर्ति के लिए घर का सारा सामान बेच दिया और अपने हिस्से में आई 3 कनाल जमीन भी भाई ने नशे के लिए बेच दी वही बहन का कहना था के उसने अपने भाई को नशे से आज़ाद करवाने के लिए कई बार पुलिस को सूचित किया तांकि पुलिस उसको पकड़ कर उसका इलाज करवाये लेकिन पुलिस ने कोई मदद नही की और अब आखिर में मीडिया का सहारा लिया है तांकि पुलिस उसकी मदद करे और भाई को पकड़ कर उसको इलाज के लिए भर्ती करवाये
मनप्रीत कौर ( पीडत बहन )
वही जब नशेड़ी भाई के घर पहुंच कर देखा गया तो जगह जगह नशा करने के सबूत दिखाई दिए और वही नशेड़ी भाई अपनी बहन से नशे को लेकर बहसबाज़ी करता भी दिखाई दिया और यह कहता सुनाई दिया के नशा नही छोड़ा जाता वह तो खुद इस आदत से दुखी है और मरना चाहता है  वही नशेड़ी भाई ने खुद माना के वह नशा करता है और वह अपना समान बेच कर नशा करता है कोई चोरी नही करता वही उसने यह भी कहा के मेरी जायदाद में बहन का कोई हिस्सा नही फिर चाहे में इस जायदाद को बेच दु या नही
नशेड़ी भाई
वही इस मामले में मीडिया ने अपना फर्ज निभाते हुये पुलिस को इतलाह दी और मोके पर पहुंचे पुलिस अधिकारी मीडिया को खबर करने से रोकते दिखाई दिए बाद में मीडिया से बात किये बिना ही नशेड़ी भाई को पकड़ कर अपने साथ ले गए वही जब सम्बंधित थाना के उच्च अधिकारी डी एस पी बलबीर सिंह से बात की गई
तो उन्होंने बताया के थाना घनिये के बांगड़ थाने के अधीन पड़ते गांव तलवंडी भरथ का मामला है यहां राजबीर नामक नौजवान नशे का आदि था और उसकी बहन चाहती थी के उसके भाई को पकड़ कर उसका इलाज करवाने के लिए नशा छुड़ाओ केंद्र में दाखिल करवाया जाए जो पुलिस के दुआरा कर दिया गया है वही उन्होंने कहा के जब कभी भी पुलिस को ऐसे मामले की इतलाह मिलती है तो पुलिस उस पर तुरन्त करवाई करती है और नशे के कारोबारियो के खिलाफ भी सख्त करवाई की जाती है