Connect with us

देश

भारत और चीन की फौज LOC से पीछे हटने शुरू, मगर कुछ इलाकों में अभी भी है तनाव

Published

on

Army of India
photo socail media

नई दिल्ली (10 जून 2000

Advertisement
) :- भारत और चीन के दरमियान कई दिनों से तनातनी चल रही है. एलओसी पर दोनों देशों के एक दूसरे के ऊपर तनातनी तनी हुई है. भारत और चीन की सरहद पर अब तनाव कम होने की संभावना जताई जा रही है. क्योंकि अब दोनों देशों की फौजियों ने सेनाओं ने विघटन शुरू कर दिया है।

आज पंजाब में कोरोना के 6 नए केस, पंजाब में अब 2800 के पार हुई गिनती

मिली जानकारी के अनुसार लद्दाख के अंदर तीन जगहों पर जहां दोनों देशों के सैनिक 2 से 3 किलोमीटर तक पीछे चले गए हैं लेकिन वही भारत के लिए फिंगर क्षेत्र में के अंदर चीनी फौज बड़ी गिनती में वहां मौजूद है और बहुत सी परेशानियां भी कर रही है | जो दोनों देशों के अंदर यह एक मुख्य तनाव की वजह मिली रिपोर्टों के अनुसार पोर्ट 14- 15 और 17 गर्म पानी का झरना के करीब गोगरा के अंदर दोनों देशों के सैनिक कम से कम ढाई किलो मीटर तक पीछे चले गए जो एक अच्छी बात है।

पन्नू ने कांग्रेसी सांसद बिट्टू के अलावा दूसरे लोगों को दी धमकी

गोगरा के अंदर मई महीने की शुरुआत में भारत और चीन के दरमियान तनाव बढ़ गया था. दोनों देशों के सैनिक एक दूसरे के सामने आमने-सामने की स्थिति पैदा हो गई थी। अब यहां स्थिति काबू में आ चुकी है हालात सुधर जा रहे हैं हालांकि गोगरा के अंदर कुछ ऐसी जगह हैं. जहां अभी भी तनाव बना हुआ है |

मिली जानकारी के जानकारी के मुताबिक 6 जून को गैलवन घाटी के अंदर भारत और चीन दोनों देशों के कोर कमांडरों की बैठक से पहले यहां से जाने की शुरुआत हो चुकी थी.

चीनी सेना ने सबसे पहले गैलवन घाटी के अंदर अपने फौजी कैंप लगाए थे और माना यह भी जा रहा है कि आने वाले दिनों में यहां पर स्थिति बिल्कुल सामान्य हो जाएगी हालांकि गैलवन घाटी के अंदर शुरुआत से ही भारत के लिए ज्यादा मुसीबत वह नहीं है |

क्योंकि चीन के कैंप इस सीमा रेखा के अंदर थे. भारतीय फौज ने चीनी कैंप से लगभग 500 से 600 मीटर की दूरी पर अपने कैंप स्थापित किए थे. यहां चीनी फौज भारतीय सैनिकों के साथ सैनिकों को गैलवन नदी के ऊपर एक पुल बनाने को रोक रही थी | जिसके बाद यह तनाव धीरे-धीरे बढ़ता चला गया और एक ऐसा वक्त भी आ गया था और लग रहा था कि जल्द ही भारत और चीन की आपस में लड़ाई हो जाएगी |

Trending