Connect with us

देश

जीतन राम मांझी महागठबंधन से निकलकर, नितीश बाबू के पास जा सकते हैं

Published

on

Bihar assembly elections 2020 Jitan Ram Manjhi
Photo credit Twitter : Nitish Kumar

पटना बिहार ( उमाशंकर त्रिपाठी

Advertisement
) 22 जून 2020:- बिहार की सियासत में अब धीरे-धीरे उत्तल पुथल और दल बदलने की नीति शुरू हो चुकी है. अब हर रोज कुछ नेता कुछ पार्टियां एक दूसरे को छोड़कर इधर उधर भागती नजर आएंगे। इसी कड़ी के तहत जीतन राम मांझी वह भी नितीश बाबू के साथ आने वाले विधानसभा चुनाव के दंगल में नजर आ सकते हैं. हम सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी का एनडीए के अंदर आना लगभग तय हो गया है.

बिहारी मजदूर दूसरे राज्यों में काम करने नहीं जाना चाहते : नितीश बाबू

मंत्री अशोक चौधरी ने जीता राम मांझी के घर वापसी का जोरदार स्वागत किया है. जीतन राम मांझी पार्टी के जेडीयू जनता दल यूनाइटेड में विलय हो सकता है. बिहार की राजनीति में इससे पहले जीतन राम मांझी बिहार के अंदर महागठबंधन के साथ ही रहे और हम सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने जनता दल यूनाइटेड के अंदर शामिल होने के संकेत दे दिए हैं.

बीते कुछ टाइम से चल रहे महागठबंधन के अंदर समन्वय समिति को लेकर चल रहे तकरार की वजह से पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की राष्ट्रीय जनता दल लालू प्रसाद यादव की पार्टी के साथ तकरार चल रही है. सुनने में यह भी आया है कि हम अध्यक्ष एवं बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने बीते दिनों बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की खुलकर तारीफ भी की है और राष्ट्रीय जनता दल को अल्टीमेट देकर राजनीतिक अटकलों को ऐसी हवा दी है कि उनके विरोधियों की हवा निकलती नजर आ रही है.

सुप्रीम कोर्ट ने बदला फैसला, अब इन शर्तों के साथ जगन्नाथ पुरी रथ यात्रा की दी इजाजत

दरअसल पत्रकारों से बातचीत करते हुए हम सुप्रीमो और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने जनता दल यूनाइटेड बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जमकर तारीफ की है और यह बात कही है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार के अंदर बहुत अच्छा काम कर रहे हैं. वह संवेदनशील भी हैं पर जमीन पर उनके निर्देश का पालन बहुत ही अच्छे ढंग से हो रहा है. पदाधिकारी सरकारी आदेशों का सही कार्यान्वयन नहीं कर रहे हैं.इसीलिए वास्तविक नतीजा नहीं सामने आ रहा है. इसके बाद से ही जनता दल यूनाइटेड में जीतन राम मांझी के शामिल होने के कयास लगने शुरू हो चुके हैं

India-Nepal Tension: नेपाल ने एक और दावा ठोका, अगर यह बांध ना बना बाढ़ आने की स्थिति में बिहार के हालात हो जाएंगे गंभीर

आपको बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव के चलते जहां भारतीय जनता पार्टी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए प्रदेश के अंदर रैलियां करनी शुरू कर दी हैं. जनता दल यूनाइटेड के नीतीश कुमार ने भी आने वाले विधानसभा चुनाव के लिए नई रणनीति तैयार करनी शुरू कर दी है और वहीं दूसरी तरफ बिहार के अंदर लालू प्रसाद यादव की राष्ट्रीय जनता दल आरजेडी सुप्रीमो इन दिनों चारा घोटाले के चलते जेल में अपनी सजा काट रहे हैं, उनके घर सियासत के अंदर भी खिंचा तान देखने को मिल रही है इसीलिए महागठबंधन में शामिल कई ऐसी पार्टियां हैं जो विधानसभा चुनाव के वक्त इधर-उधर भक्ति नजर आएंगी।

Trending