Connect with us

देश

चक्रवर्ती तूफान तेजी के साथ तट की तरफ बढ़ता हुआ, बिहार में नहीं पहुंचाएगा ज्यादा नुकसान

Published

on

Chakravarti storm
Photo credit Facebook-Parmjeet Bhakna

नई दिल्ली 18 मई (परमजीत):- भारत में मौसम विभाग की तरफ से एक चेतावनी जारी की गई है. जिसके चलते साइक्लोन चक्रवात तूफान बड़ी तेजी के साथ भारत के काफी राज्यों की तरफ बढ़ता चला जा रहा है. बिहार के मौसम पर इस चक्रवात का बहुत ज्यादा असर नहीं होगा। ऐसी खबरें निकल कर आ रही हैं. मौसम विज्ञान केंद्र पटना के निर्देशक डॉ विवेक सिन्हा ने बताया है कि मंगलवार के दिन दोपहर को बिहार के पूर्वी हिस्से पर इसका आशिक असर दिख सकता है. लेकिन अलर्ट जैसी स्थिति अभी नहीं बनी है.

नवाज़ुद्दीन सिद्धकी का कोरोना टेस्ट रिपोर्ट आया नेगेटिव, 4 दिन से रह रहे थे होम क्वारनटीन

पूर्वी बिहार में कुछ जगहों पर बाद दोपहर बादल छा जाएंगे तेज हवाओं के साथ बारिश की स्थिति भी बन जाएगी। लेकिन बिहार के बाकी हिस्सों में इसका प्रभाव नहीं देखने को मिलेगा। चक्रवात की वर्तमान स्थिति बिहार में किसी तरह की चिंता पैदा करने वाली नहीं है. भारतीय मौसम विभाग के लगाए गए अनुमान के अनुसार चक्रवर्ती तूफान उपावन सोमवार शाम को विकराल रूप धारण कर सकता है.

बंगाल की खाड़ी में जोर पकड़ रहे इस बड़े सुपर साइक्लोन से भारत के ओडिशा और बंगाल के तटीय इलाकों के ऊपर बड़ा खतरा मंडराने लगा है. मछुआरों को 21 मई तक समुद्री तट में नहीं जाने को कहा गया है. वहीं दूसरी तरफ बिहार के मौसम पर अफगान चक्रवात का बहुत ज्यादा असर देखने को नहीं मिलेगा।

शिखर धवन ने शाहिद अफरीदी को दिया मुंह तोड़ जवाब

मौसम विभाग के पूर्व अनुमानों इस सुपर साइक्लोन में बदले की चेतावनी बदलने की चेतावनी दी गई है. इसी बीच देश के प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी ने स्थिति की समीक्षा करने के लिए सोमवार शाम को केंद्रीय गृह मंत्रालय और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के साथ एक खास बैठक की एनडीआरएफ के महानिदेशक एसएन प्रधान ने यह बताया कि ओडिशा के साथ और पश्चिमी बंगाल के छह जिलों में कुल 37 टीमों को तैनात कर दिया है. पल-पल की जानकारी इकट्ठे की जा रही है.

मौसम विभाग ने यह बताया कि चक्रवात बंगाल की खाड़ी के ऊपर और शक्तिशाली होकर तट की तरफ बढ़ रहा है। यह 20 मई को दीघा और हटिया के बीच प.बंगाल और बांग्लादेश के तटों से टकराएगा। ओडिशा सरकार ने संवेदनशील क्षेत्रों से 11 लाख लोगों को निकालना शुरू कर दिया है।

Trending