Connect with us

देश

चीनी सेना को भारतीय सीमा से पीछे खदेड़ने वाले, जांबाज कर्नल संतोष बाबू ,जिन्होंने बहादुरी के साथ यह काम पहले किया

Published

on

Colonel Santosh Babu
Photo :social Media

लद्दाख (16 जून 2020 ):-

Advertisement
गलवान घाटी के अंदर भारतीय सेना और चीनी सेना के बीच हुई झड़प के दौरान भारतीय सेना के कर्नल बी संतोष बाबू शहीद हो गए दरअसल संतोष बाबू सोमवार को चीन की सेना के अधिकारियों से बातचीत करने के लिए आगे गए थे. जब उनके ऊपर हमला हुआ. तेलंगाना के सूर्यपत जिले के निवासी कर्नल संतोष बाबू सोलवीं बिहार रेजीमेंट के कमांडिंग ऑफिसर भी थे। संतोष बाबू सीमा पर तनाव को कम करने के लिए कई बैठकों में नेतृत्व कर चुके थे.

भारत-चाइना बॉर्डर पर कर्नल समेत 2 जवान शहीद, कार्रवाई में चीन के 3 से 5 जवान मारे जाने की खबर, रक्षा मंत्री की आपातकालीन बैठक

भारतीय सेना से जुड़े भरोसे योग सूत्रों ने जो जानकारी दी है इसमें कहा गया कि सोमवार की रात जब चीनी सेना तय किए गए कार्यक्रम के अनुसार पीछे नहीं हटी तो पीछे नहीं हटी तो कर्नल बाबू स्वयं उनको उनसे बात करने के लिए नहीं आगे है. इस दौरान चीनी पक्ष की तरफ से उनके साथ हाथापाई की गई जिसके बाद भारतीय सेना ने जवाबी कार्रवाई की और उसका मुंहतोड़ जवाब दिया.

Bihar Election 2020 : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज सत्तारघाट पुल का किया उद्घाटन

इससे दोनों तरफ भारत और पाक सीमा पर हिंसा शुरू हो गए पत्थर लाठी डंडा खूब चले दोनों पक्षों में कई लोग घायल भी हो गए. कई लोग लापता भी हुए हालांकि बाद में वह वापस अपनी सीमा में लौट आए सेना की तरफ से अधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं की गई है. लेकिन मंगलवार की रात को कुछ सैनिक लापता हुए थे जिनकी अभी तलाश की जा रही है.

Photo बी संतोष बाबू ,हवलदार के पलानी तथा हवलदार सुनील कुमार (social Media)

भारतीय सेना के कर्नल संतोष बाबू जिनके परिवार में उनके माता-पिता, पत्नी के अलावा एक बेटी और बेटा है. इस खूनी झड़प के दौरान 16 बिहार रेजीमेंट के 2 सैनिक भी काफी घायल हो चुके हैं. जिसमें एक हवलदार के पलानी तथा हवलदार सुनील कुमार भी शामिल है.

सुशांत की मौत के बाद, भाभी ने भी दम तोड़ा, हो गई थी डिप्रेशन की शिकार

आप सब को यह भी बता दें कि झड़प में भारतीय 20 सैनिक के इस खूनी झड़प में शहीद होने की खबरें भी निकल कर आ रही है साथ ही साथ 45 के करीब चीनी सैनिक भी या तो मारे गए हैं या फिर इस खूनी झड़प में हो घायल हो चुके हैं. उन सभी सैनिकों को वहां से ले जाने के लिए एलएसी चीनी सेना का चॉपर पर भी देखने को मिला.

Trending