Connect with us

देश

भारत में कोरोनावायरस का कहर,8 राज्यों का है सबसे बुरा हाल, 87% मौतें और 85% हो चुके हैं केस.

Published

on

Coronavirus havoc is the highest number
Photo : social Media

नई दिल्ली ( 28 जून 2020 उमाशंकर त्रिपाठी ):- भारत में कोरोना वायरस (coronavirus) से संक्रमित मरीजों की संख्या का आंकड़ा 5 लाख को पार कर चुका है. संक्रमित लोगों की संख्या के अंदर तेजी के साथ इजाफा हो रहा है. शनिवार के दिन सबसे ज्यादा 18552 मामले सामने निकल कर आए हैं. भारत में इस महामारी से अब तक 15685 लोग अपनी जान दे चुके हैं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) के मुताबिक पूरे देश भर के अंदर को बढ़ने के 85.5% ऐसे मरीज हैं. जिनका इलाज चल रहा है महामारी से कुल लोगों की मौत की संख्या 887 प्रतिशत है दिल्ली, महाराष्ट्र और तमिलनाडु समेत भारत के 8 राज्यों से है.

प्रवासी कामगार अपने काम पर लौटने लगे, रेलगाड़ियों में 100 फ़ीसदी से ज्यादा बुकिंग, जल्द चलेंगी विशेष रेलगाड़ियां.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में यह बात बताई है कि फिलहाल भारत के 8 राज्यों महाराष्ट्र, तमिलनाडु, दिल्ली, तेलंगाना, गुजरात, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल से कुल इलाज वाले मरीज 85.5 प्रतिशत है. जबकि देश के अंदर महामारी से होने वाली 87% मौतें भी इन्हीं राज्य में दर्ज की गई.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने यह बताया है कि देश के अंदर कोविड-19 के मरीजों रिकवरी अब बहुत अच्छी हो चुकी है ठीक होने वाले मरीजों का आंकड़ा 58% से ज्यादा है. जबकि संक्रमण से होने वाली मृत्यु की दर करीब 3% है. केंद्रीय मंत्री ने कहा को बनने के करीब 300000 मरीज संक्रमण मुक्त हो चुके हैं.

भारत ने लद्दाख में एयर डिफेंस मिसाइलों को किया तैयार, दुश्मन को हवा में ही कर सकती है नष्ट

बल्कि बचे हुए मरीजों में से भी ज्यादातर संक्रमण मुक्त हुए हैं. हमारे यहां मौत की दर 3% के करीब है. जिसको दुनिया के आंकड़ों के साथ मैच किया जाए तो बहुत कम है. उन्होंने यह भी बताया कि डबलिंग रेट के अंदर भी सुधार हुआ है और अब यह 19 दिन है

तैनात है 15 केंद्रीय दल राज्यों की मदद

मंत्रालय ने यह भी बताया है कि उन्होंने मंत्री समूह को एक बैठक के दौरान महामारी से ठीक होने की दर और मृत्यु की दर के साथ ही संक्रमण के मामलों को और ज्यादा दुगना होने की दर तथा विभिन्न राज्यों में जांच की संख्या को और ज्यादा बढ़ाए जाने के बारे में भी जानकारी दे दी है. मंत्री समूह को बताया गया है कि स्वास्थ्य विशेषज्ञों महामारी विशेषज्ञ और संयुक्त सचिव स्तर की वरिष्ठ अधिकारियों वाली 15 केंद्रीय दलों को इन राज्यों के अंदर मदद करने के लिए तैनात किया गया है.

मंत्रालय ने यह बात भी सबको बताई है कि एक अन्य दल फिलहाल गुजरात, महाराष्ट्र और तेलंगाना का दौरा कर वहां कोविड-19 प्रबंधन के लिए जा रहे सभी प्रश्नों के को मजबूती दे रहा है. मंत्री समूह को संक्रमित लोगों के संपर्क में आए लोगों का पता लगने और संभावित हॉटस्पॉट के उन सभी इलाकों की जानकारी देने में आई टी आई एच एस एस और आरोग्य सेतु एप की उपयोगिता के बारे में जानकारी दी गई है.

मंत्रालय के इस बयान में यह भी बताया गया है. कि मंत्री समूह को राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों के अंदर लगातार उन इलाकों के बारे में जानकारी दी जा रही है. जिन पर अभी बहुत ज्यादा ध्यान देना होगा. इसके अलावा रोकथाम के लिए किए जाने वाले सभी कार्यों के ऊपर निगरानी जांच की क्षमता का पूर्ण इस्तेमाल दुर्ग और पहले से दूसरी बीमारियों के साथ ग्रस्त लोगों के ऊपर ज्यादा ध्यान देना और तकनीक का इस्तेमाल करते हुए संभावित हॉटस्पॉट को लेकर पहले कैसे तैयारी करनी चाहिए इन सब बातों के बारे में जानकारी दी जाएगी और मंत्रालय राज्यों के संपर्क में हैं.

अब यह कहा जा सकता है कि देश के अंदर बेशक कोरोनावायरस मरीजों की गिनती बढ़ रही है लेकिन उसके साथ-साथ रिकवरी रेट और बीमारी से निपटने के लिए तमाम इंतजाम प्रदेश और राज्य सरकारों की धर्म से किए जा रहे हैं तरफ से किए जा रहे हैं.

thestatusraja

Trending