Connect with us

देश

बाबा रामदेव की कोरोनिल दवाई की तमाम जानकारी आयुष मंत्रालय ने मांगी, विज्ञापन पर लगा दी रोक

Published

on

Coronavirus medicine made by Patanjali of Coronil Baba Ramdev
Photo : Acharya Balkrishna Twitter

नई दिल्ली ( उमाशंकर त्रिपाठी ) 24 जून 2020:-देश में जहां कोरोनावायरस सब तरफ लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है वहीं देश की राजधानी दिल्ली समेत दूसरे बड़े राज्यों के अंदर कोरोनावायरस का संक्रमण दिन प्रतिदिन बढ़ता चला जा रहा है. इसी बीच एक अच्छी खबर कल निकल कर आए जिसमें योग गुरु बाबा रामदेव की पतंजलि कंपनी ने करोना वायरस की दवाई कोरोनिल तैयार कर ली है. कोरोनावायरस वायरस की दवा कोरोनिल को लेकर सरकार के सामने जानकारी प्रस्तुत की गई है. पतंजलि ने इस में कहा है कि एक कम्युनिकेशन गैप जो नजर आ रहा था उसको दूर कर दिया गया.

Advertisement

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह मास्को के अंदर चीनी रक्षा मंत्री से नहीं मिले, भारतीय रक्षा मंत्रालय ने दिया साफ संकेत

Photo :
Acharya Balkrishna (Twitter)

पतंजलि ने मंगलवार को कोरोनावायरस का इलाज का दावा करते हुए कोरोनिल नामक आयुर्वेदिक दवाई को बाबा रामदेव की तरफ से मार्केट के अंदर लांचर दिया गया. इसके बाद शाम को आयुष मंत्रालय ने दवाई के बारे में पूरी जानकारी मांगी और कोरोनिल के विज्ञापन के ऊपर रोक लगा दी. पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर आचार्य बालकृष्ण ने अपने ट्विटर के ऊपर सबको जानकारी दी

भारत का पहला राज्य जहां पेट्रोल के मुकाबले डीजल है महंगा, जानिए आपके शहर में आज क्या है तेल का भाव

जिसमें ने कहा कि हम से जो जानकारी मांगी गई थी. हमने वह तमाम जानकारी आयुष मंत्रालय को सौंप दी है. आचार्य बालकृष्ण ने ट्वीट करके कहा यह सरकार आयुर्वेद को प्रोत्साहन व गौरव देने वाली है. जो कम्युनिकेशन गैप था उसके भी दूर कर दिया गया है. क्लीनिकल ट्रायल के जितने भी स्टैंडर्ड पैरामीटर्स हैं उन सभी को 100 फ़ीसदी पूरा किया गया है. इसकी तमाम जानकारी हमने भारत के आयुष मंत्रालय को सौंप दी है.

कोरोनावायरस की पहली आयुर्वेदिक दवा कोरोनिल के लांचिंग के कार्यक्रम के अंदर बाबा रामदेव ने एक बड़ा दावा किया था कि इस दवाई का जिन मरीजों के ऊपर क्लिनिकल ट्रायल किया गया है. उन मरीजों में से 69% मरीज केवल 3 दिन में ही पॉजिटिव से नेगेटिव और 7 दिन के अंदर वह मरीज 100 फ़ीसदी कोरोनावायरस से मुक्त हो गए. दवा का प्रयोग 280 लोगों के ऊपर किया गया है और यह प्रयोग सफल रहा.

Pakistan Airlines का विमान कराची के अंदर पायलट और एटीसी की गलती से हादसा ग्रस्त हुआ, जानिए पूरी रिपोर्ट

आचार्य बालकृष्ण ने बताया था कि दवाई में अश्वगंधा, गिलोय, तुलसी, श्वसारि रस व अणु तेल इस दवाई के अंदर हैं. यह दवा अपने प्रयोग, इलाज और प्रभाव के आधार पर राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सभी प्रमुख संस्थानों, जर्नल आदि से प्रामाणिक है.बाबा रामदेव ने इससे पहले भी कई ऐसी दवाइयां और प्रोडक्ट बनाए हैं जिनको लोग अपने रोजमर्रा की जिंदगी में इस्तेमाल करते हैं.

Trending