Connect with us

देश

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज जाएंगे मास्को के दौरे पर,वहां से लेकर आएंगे ब्रह्मास्त्र

Published

on

Photo : Rajnath Singh

गलवान घाटी में भारत – चीन सीमा विवाद के बाद. अब भारतीय सेन सभी मोर्चों पर सावधान है. चीन को सबक सिखाने के लिए उसे आर्थिक और शारीरिक रूप से घेरा जा रहा है और इस बीच भारत के पुराने दोस्त रूस से ऐंटी मिसाइल सिस्टम S-400 को अपने पास पाने की कोशिश में भारत जुटा हुआ है.

Advertisement

100 सालों से चली आ रही भगवान जगन्नाथ रथ यात्रा इस साल नहीं होगी, विश्व हिंदू परिषद ने कोर्ट से यह अपील की है

ऐंटी मिसाइल सिस्टम S-400 बनवाने के लिए भारत की तरफ से पहले ही रूस को एडवांस रकम अदा कर दी गई है. इसी बीच देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अपनी तीन दिवसीय दौरे पर हैं. भारत ने साल 2018 में रूस के साथ 5 अरब डॉलर से ज्यादा की कीमत वाली यह डील का थी.

भारत सरकार ने सेना को जारी किए 500 करोड़ रुपए, नए और आधुनिक हथियारों के साथ लैस होगी इंडियन आर्मी.

कोरोना महामारी के कारण इस मिसाइल सिस्टम की सप्लाई में देरी हो रही थी. लेकिन अब इसे साल 2021 तक भारत को मिसाइल सौंप दी जाएगी. आपको बता दें कि चीन के भी रूस के साथ बढ़िया संबंध रहे हैं.

सलमान खान ने किया ट्वीट, सुशांत राजपूत के परिवार का सहारा बने, दी यह नसीहत

चीन पहले से ही इस मिसाइल को अपने सेना के बेड़े में शामिल कर चुका है. इस दौरे पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (rajnath singh) मास्को के दौरे पर है और इस दौरे में अपने करीबी मित्र और रूस से ऐंटी मिसाइल सिस्टम S-400

Trending