Connect with us

देश

दिग्विजय सिंह ने शिवराज सिंह चौहान का ऐसा वीडियो शेयर किया, कि दर्ज हो गया यह मामला

Published

on

Digvijay Singh shared such a video
Photo by twitter : Digvijay Singh

भोपाल (16 जून 2020

Advertisement
):- मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह जो अक्सर ट्विटर पर बहुत ज्यादा सर गर्म रहते हैं और विवाद उनके साथ ही चलता रहता है. अब नया विवाद उनके साथ मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का चल रहा है. दिग्विजय सिंह ने अपने ट्विटर अकाउंट पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का एडिट वीडियो सबके साथ शेयर किया और यह वीडियो देख दिग्विजय सिंह के लिए बड़ी मुसीबत बन गया है. जिसके चलते भाजपा के नेताओं ने दिग्विजय सिंह के खिलाफ अपराध शाखा के अंदर प्राथमिकी दर्ज करवा दी है.

अमित शाह का केजरीवाल सरकार पर बड़ा हमला, कोरोना को दिल्ली से खत्म करने के लिए अब यह काम होगा.?

भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के प्रतिनिधिमंडल के द्वारा रविवार की रात को अपराध शाखा के अंदर एक शिकायत दर्ज करवाई गई है. इस शिकायत के अंदर कहा गया है कि मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने अपने ट्विटर हैंडल के ऊपर रविवार की दोपहर को एक वीडियो को शेयर किया. इस वीडियो के अंदर यह भी लिखा गया है कि ‘मदिरालय खोल दिए पर मंदिरों और पूजा स्थलों पर लॉकडाउन. वाह रे मामा इतना पिलाओ के पड़े रहें.’

भारतीय जनता पार्टी के द्वारा पुलिस पुलिस दी गई शिकायत में बताया गया है कि शिवराज सिंह चौहान ने जनवरी 2020 में तत्कालीन कमलनाथ सरकार की आबकारी नीति को लेकर संवाददाताओं से विचार चर्चा के दौरान शराब दुकानें गांव-गांव में खोल खोले जाने का भारी विरोध किया था.

अरविंद केजरीवाल ने Delhi के अंदर लॉकडाउन को लेकर जारी किया, यह बयान

यह पूरा बयान 2 मिनट 19 सेकंड का है. जिस को अंदर शिवराज सिंह चौहान ने अपने ट्विटर अकाउंट पर डाला था. जिसे दिग्विजय सिंह और उनके साथियों ने वीडियो को चोरी कर काट छांट की और उस वीडियो को 9 सेकंड का तैयार कर ट्विटर पर डाल दिया. यह कृत्य भारतीय जनता पार्टी की वर्तमान सरकार और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की छवि को खराब करने के मकसद से ट्विटर पर डाला गया.

Weather Updates: देश के इन राज्यों में होगी जबरदस्त बारिश, आपके शहर में कब आएगा मानसून, जान लीजिए

अपराध शाखा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक निश्चल झारिया ने इस बात का खुलासा kya. रविवार रात को पूर्व मंत्री व विधायक विश्वास सारंग, पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता, विधायक कृष्णा गौर, रामेश्वर शर्मा के द्वारा लिखित शिकायत के समक्ष के तौर पर उनको वीडियो की कॉपी पेन ड्राइव के अंदर डाल कर दीजिए इस मामले के अंदर मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज भी कर ली गई है.

मध्य प्रदेश पुलिस के मुताबिक इसके साथ ही सोशल मीडिया के ऊपर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पुराने वीडियो के अंदर काट छांट कर सोशल मीडिया पर वायरल करने के मामले में सोशल मीडिया मॉनिटरिंग सेल के एक आदमी के खिलाफ दूसरी धाराओं के साथ आईटी एक्ट के तहत एक प्रकरण भी दर्ज किया गया है.

इसके अलावा उन दूसरे लोगों को भी आरोपी बनाया गया है जिन लोगों ने दिग्विजय सिंह के ट्वीट को रिट्वीट किया है अब इस पूरे मामले में दिग्विजय सिंह बहुत बुरे फंस चुकी है. अब देखना होगा कि इस वीडियो को लेकर दिग्विजय सिंह की तरफ से क्या बयान निकल कर आता है.

Trending