Connect with us

देश

India का नाम बदलकर Bhara रखने की याचिका पर, सुप्रीम कोर्ट में आज होगी सुनवाई

Published

on

India to Bharat

नई दिल्ली 2 जून 2020 ( परमजीत भकना ):- भारतीय संविधान के अनुच्छेद एक में संशोधन कर इंडिया शब्द को हटाकर देश का नाम भारत (Bharat) या हिन्दुस्तान (Hindustan) रखने की मांग वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट के अंदर आज 2 जून के दिन सुनवाई होने वाली है | इस पूरे मामले में सुप्रीम कोर्ट में दाखिल एक जनहित याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई होनी थी | लेकिन उस दिन प्रधान न्यायधीश सीजेआई बोबडे के उपलब्ध नहीं होने की वजह से सुनवाई को टाल दिया गया था. और नई तारीख 2 जून तय की गई थी |

याचिका किसने की है दायर किसने है

दरअसल दिल्ली के रहने वाले एक आदमी ने अपनी याचिका में अदालत से यह मांग की है कि संविधान के अनुच्छेद 1 में संशोधन कर इंडिया शब्द हटा दिया जाए। अभी अनुच्छेद 1 कहता है कि भारत अर्थात इंडिया राज्यों का संघ होगा। इसी याचिका में यह भी कहा गया है कि इसकी जगह संशोधन करके इंडिया शब्द को हटा दिया जाए और इसकी जगह पर भारत या हिंदुस्तान कर दिया जाए। याचिकाकर्ता ने यह भी कहा है कि इंडिया शब्द गुलामी का प्रतीक सा लगता है. देश को मूल और प्रमाणिक नाम भारत से ही मान्यता दी जानी चाहिए |

मोदी सरकार ने किसानों को कर दिया खुश, धान की MSP में 53 रुपये की वृद्धि की.

याचिकाकर्ता ने दावा किया है कि याचिकाकर्ता का कहना है कि इंडिया शब्द गुलामी का प्रतीक लगता है.देश को मूल और प्रमाणिक नाम भारत से ही मान्यता दी जानी चाहिए. याचिका में दावा किया है कि यह संशोधन इस देश के नागरिकों की, औपनिवेशिक अतीत से मुक्ति सुनिश्चित करेगा. याचिका में 1948 में संविधान सभा में संविधान के तत्कालीन मसौदे के अनुच्छेद 1 पर हुई चर्चा का हवाला दिया गया है और कहा गया है कि उस समय देश का नाम ‘भारत’ या ‘हिन्दुस्तान’ रखने की पुरजोर हिमायत की गई थी.

याचिकाकर्ता के अनुसार यद्यपि यह शब्द अंग्रेजी नाम बदलना सांकेतिक लगता है लेकिन इसे भारत शब्द से बदलना हमारे पूर्वजों के स्वतंत्रता संग्राम को न्यायोचित ठहराएगा. याचिका में कहा गया है कि यह उचित समय है कि देश को उसके मूल और प्रमाणिक नाम ‘भारत’ से जाना जाए.

thestatusraja

Trending