Connect with us

देश

Rajya Sabha Elections 2020: कांग्रेस बीजेपी दोनों पार्टियों के लिए आज बड़ी चुनौतियां, कई दिग्गज अपनी किस्मत आजमा रहे हैं, जानिए 10 खास बातें

Published

on

Rajya Sabha Elections 2020
Photo :Social Media

नई दिल्ली 19 जून 2020:- (Parmjeet Bhakna):-आज 19 जून है और बड़ा खास दिन है शुक्रवार के दिन 10 राज्यों की 24 सीटों पर राज्यसभा चुनाव हो रहे हैं. इस में मार्च के महीने में चुनाव होने थे. लेकिन कोरोनावायरस महामारी की वजह से इन चुनाव को टाल दिया गया था. लेकिन अब यह चुनाव करवाए जा रहे हैं. इस बीच इन चुनावों को लेकर राजनीतिक पार्टियों के अंदर खूब खिंचा तान चल रही है. खासकर राजस्थान और गुजरात के अंदर तो कुछ ज्यादा ही खिंचा तान देखने को मिल रही है.

Advertisement

नरेंद्र मोदी की सर्वदलीय बैठक में. आम आदमी पार्टी को नहीं दिया गया न्योता, आज होंगे बड़े फैसले

कांग्रेस पार्टी ने तो इन दोनों राज्यों में से रिसॉर्ट पॉलिटिक्स का सहारा लिया है और भारतीय जनता पार्टी पर विधायकों की खरीद-फरोख्त करने का गंभीर आरोप भी लगाया.अपने सभी विधायकों को कांग्रेस पार्टी ने रिसोर्ट के अंदर छुपा रखा है. भारतीय जनता पार्टी को अपनी सरकार आराम से चलाने के लिए राज्यसभा में आराम से बहुमत चाहिए. भारतीय जनता पार्टी एनडीए की सरकार को उच्च सदस्य यानी कि राज्यसभा के अंदर बहुमत के लिए 30 और सीटों की आवश्यकता है.

मुरारी बापू पर बीजेपी के विधायक हमला करने के लिए दौड़े सुरक्षाकर्मियों ने बचाया.

हम आपको आज के इन खास चुनाव के बारे में जरूरी बातें बताएंगे


(1):- आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और गुजरात की चार चार सीटों पर चुनाव हो रहे हैं. राजस्थान और मध्य प्रदेश की 2-2 सीटों पर चुनाव हो रहे हैं. झारखंड की एक सीट पर चुनाव हो रहा है वही मेघालय, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश और मिजोरम की एक सीट के ऊपर भी चुनाव हो रहा है. वोटिंग सुबह 9:00 बजे शुरू हो गई है. सबसे खास और गंभीर गुजरात राजस्थान और मध्य प्रदेश की एक-एक सीट पर कड़ी टक्कर देखने को मिल रही है.

(2):- भारत देश के अंदर करोना वैश्विक महामारी को देखते हुए भारतीय चुनाव आयोग ने वोटिंग के लिए बहुत ज्यादा जरूरी व्यवस्था की है. सभी विधायकों के शरीर का तापमान चेक किया जाएगा. उनके फेस मास्क पहने रखने और सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर सभी नियमों की पालना की जाएगी. अगर किसी विधायक को बुखार या फिर कोई दूसरा लक्षण उनके अंदर देखने को मिल रहा है तो उनको अलग रूम में रखा जाएगा.

(3):- वर्तमान वक्त में एनडीए के पास राज्यसभा की 245 सीटों में से 91 सीटें हैं, उनके कब्जे में है वहीं यूपीए के पास 61 सीटें हैं. दूसरी विपक्षी पार्टियां और गुटनिरपेक्ष पार्टियों के पास सब कुछ मिलाकर 68 सीटें हैं. आज के इस खास चुनाव में जो मुख्य कैंडिडेट है वो हैं- गुजरात से शक्ति सिंह गोहिल और भारत सिंह सोलंकी मध्य प्रदेश की बात की जाए तो ज्योतिरादित्य सिंधिया और दिग्विजय सिंह राजस्थान से केसी वेणुगोपाल उम्मीदवार हैं

(4):- गुजरात के अंदर कांग्रेस की एक बड़ी मुश्किल यह है क्योंकि कांग्रेस के 8 विधायकों ने यहां मार्च में अपना इस्तीफा दे दिया था. यहां की 4 सीटों पर अगर नजर डाली जाए तो 3 के ऊपर भारतीय जनता पार्टी ने जबरदस्त जीत की उम्मीद दिखाई दे रही है.कांग्रेस को गुजरात के अंदर जीत के लिए 34 वोटों की आवश्यकता है तभी कुछ उपाय हो पाएगा.

(5):- गुजरात की 182 सदस्यों वाली विधानसभा में कांग्रेस पार्टी के पास 65 विधायक हैं. जिन्होंने पिछले 3 हफ्तों में गुजरात जिन्होंने पिछले तीन कुछ मतों से राजस्थान और एम दाबाद के अहमदाबाद के 25 रिसोर्ट जिनके अंदर सबकी नजर से बचा कर रखा हुआ है. बीजेपी के पास यहां 103 सदस्य मौजूद हैं .

(6):- मध्यप्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 22 विधायकों सहित मार्च के अंदर अपने पदों से इस्तीफा दिया था. जिससे कांग्रेस की सरकार मध्य प्रदेश के अंदर गिर गई. अब उस सरकार के अंदर मुख्यमंत्री रहे कमलनाथ कुछ विधायकों को वापस लाने की दिन-रात कोशिश कर रहे हैं. यहां की 3 सीटों में से कांग्रेस के पास एक सीट है और 2 सीटें भारतीय जनता पार्टी के पास हैं.

(6):- मध्य प्रदेश के अंदर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 22 विधायकों के साथ मार्च के महीने के अंदर इस्तीफा दे दिया है. जिससे कांग्रेस की सरकार प्रदेश में गिर गई. अब उस सरकार के अंदर मुख्यमंत्री रहे कमलनाथ कुछ विधायकों को पार्टी में फिर से वापस लाने की दिन-रात कोशिशों में जुटे हुए हैं. यहां की 3 सीटों में से कांग्रेस के पास एक सीट है और भारतीय जनता पार्टी के पास 2 सीटें हैं.

(7):- मध्य प्रदेश की 230 सदस्यों वाली विधानसभा के अंदर अभी 206 सीटों के ऊपर निवर्तमान विधायक हैं. खास बात यह है कि इसमें 107 सीटें भारतीय जनता पार्टी के पास है. कांग्रेस पार्टी के पास इस वक्त 92 सिटी सीटें हैं. यहां पर राज्यसभा सीट जीतने के लिए कैंडिडेट को 51 वोट की जरूरत पड़ती है.

( 9 ):-मणिपुर के अंदर कांग्रेस पार्टी चुनाव से ठीक पहले मणिपुर की भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लेकर आ रही थी. यहां भारतीय जनता पार्टी के 9 विधायक पार्टी से भागी हो गए हैं. बाकी जिनका असर यहां की एक राज्यसभा सीट के ऊपर भी पड़ सकता है.

(10):- फरवरी में भारतीय चुनाव आयोग ने 17 राज्यों की 55 सीटों पर चुनाव की बड़ी घोषणा की थी. मार्च महीने के अंदर इसमें से 10 राज्यों में से 37 कैंडिडेट्स को निर्विरोध चुन लिया गया.बाकी शेष बची सीटों के ऊपर 26 मार्च के दिन चुनाव होना था. लेकिन भारत के अंदर वैश्विक महामारी फैलने की वजह से पूरा देश लॉकडाउन हो गया जिसकी वजह से इन चुनाव को टालना पड़ा था.

Trending