Connect with us

देश

भारत-चाइना बॉर्डर पर कर्नल समेत 2 जवान शहीद, कार्रवाई में चीन के 3 से 5 जवान मारे जाने की खबर, रक्षा मंत्री की आपातकालीन बैठक

Published

on

The situation of war on India-China border
Photo : Socail Media

लद्दाख 16 जून 2020:- भारत और चीन की सीमा पर बड़े दिनों से विवाद चलता जा रहा है। हर रोज छोटी मोटी घटनाएं घटती थी और कुछ दिन पहले चीन ने अपनी फौजी गतिविधियों को तेज कर दिया था. जिसके बाद बॉर्डर पर हालात तनावपूर्ण हो गए थे अब भारत और चीन का सीमा विवाद तनाव से बड़े तनाव में तब्दील होता जा रहा है. सोमवार की रात लद्दाख की गालवन वैली में भारत और चीन की सेनाओं के बीच सेना के बीच हिंसक झड़प हुई है और इस झड़प के दौरान भारत के एक कर्नल और 2 जवान शहीद हो गए हैं. आपको बता दें कि जो कर्नल शहीद हुए हैं वह इन्फेंट्री बटालियन के कमांडिंग ऑफिसर थे.

Advertisement

आज से 45 साल पहले 1975 के बाद भारत और चीन की सीमा पर ऐसे हिंसक हालात बने हैं.जब भारत के जवानों की शहादत हुई है और इस हिंसक झड़प में कोई भी गोली नहीं चली. सैनिकों के बीच में पथराव हुआ है. लाठी डंडा से एक दूसरे पर हमला किया गया है.

PM मोदी ने की आज बैठक पांच राज्यों में लग सकता है, फिर से लॉकडाउन.?

भारतीय फौज के जवानों ने जवाबी कार्रवाई करते हुए चीन के 5 सैनिकों को मार दिया है और 11 चीनी फौजियों को घायल कर दिया है. चीन के अखबार द ग्लोबल टाइम्स के चीफ रिपोर्टर ने इस पूरी बात को कंफर्म भी कर दिया है. हालांकि बाद में उन्होंने कहा कि उन्होंने यह बात भारतीय मीडिया के हवाले से कही है.

भारत चीन बॉर्डर पर ताजा अपडेट क्या है


(1):- भारतीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत भारत कीतीनों सेनाओं के चीफ और विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ एक आपातकालीन बैठक की.

(2):- देश के रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री अब देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर सकते हैं.
(3):– आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे ने पठानकोट मिलिट्री स्टेशन का अपना दौरा रद्द कर दिया है.
(4):- सेना के सूत्रों ने जो जानकारी दी है उसमें कहा गया है कि चीन ने ही सुबह 7:30 बजे मीटिंग की पेशकश रखी इसके बाद से मेजर जनरल लेवल की बातचीत वहां चल रही है.

भारत पर बॉर्डर क्रॉस करने का आरोप चीन लगा रहा है

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री को सांस लेने में तकलीफ, कोरोनावायरस टेस्ट किया गया, हॉस्पिटल में भर्ती

न्यूज़ एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक चीन के विदेश मंत्रालय की और से जो खबर निकल कर आ रही है. उसमें कहा गया है कि भारत एक तरफा कार्रवाई ना करें नहीं तो मुश्किलें और भी बढ़ जाएंगे. वहीं चीन के अखबार द ग्लोबल टाइम ने चीन के विदेश मंत्रालय के हवाले से इस बात को कहा है. कि अगर बॉर्डर पर दोनों देशों के बीच रजामंदी नहीं बनती थी लेकिन भारतीय जवानों ने इसका मुंहतोड़ जवाब दिया और बॉर्डर क्रॉस किया.आर्मी की तरफ से जारी एक बयान के बीच कहा गया है. कल यानी सोमवार की रात को गालवन वैली में डी-एक्स्केलेशन प्रोसेस चल रही थी. लेकिन तभी हिंसा हो गई जिसमें हमारे एक ऑफिसर और दो फौज के जवान शहीद हो गए.

अभी दोनों देशों की सेनाओं के सीनियर ऑफिसर तनाव कम करने के लिए बॉर्डर पर मीटिंग कर रहे हैं. थोड़ी देर बाद सेना ने दोबारा बयान जारी कर कहा कि हिंसक झड़प में दोनों तरफ के सैनिकों की जान जा चुकी है. आपको बता दें कि 20 अक्टूबर 1975 को अरुणाचल प्रदेश के तुलुंग ला में असम राइफल के जवानों की पेट्रोलिंग पार्टी पर एक एंबुश लगाकर जबरदस्त हमला किया गया था और हमले के दौरान भारतीय फौज के 4 जवान शहीद हो गए थे.

दोनों देशों के बीच 41 दिन से सीमा पर बढ़ा तनाव चल रहा है इसकी शुरुआत हुई थी 5 मई के दिन तब से अब तक यह हिंसा रुकने का नाम नहीं ले रहे. इसके बाद दोनों देशों की सेनाओं के बीच जून में अब तक 4 बार बातचीत हो चुकी है. बातचीत में दोनों देशों की सेनाओं के बीच कई बार रजामंदी बनी है. लेकिन बॉर्डर पर तनाव फिर भी कम नहीं हुआ.

Trending