Connect with us

देश

Vikas Dubey News Update: विकास दुबे को STF की टीम उज्जैन से कानपुर के लिए हुई रवाना, सुरक्षा के कड़े इंतजाम

Published

on

Vikas Dubey News Update
Photo : social Media

लखनऊ ( उमाशंकर त्रिपाठी

Advertisement
):- उत्तर प्रदेश एसटीएफ ने यूपी पुलिस के विकास दुबे की पत्नी ऋचा दुबे और उसके बेटे को लखनऊ के कृष्णानगर से गिरफ्तार कर लिया. इससे पहले गुरुवार सुबह को विकास दुबे को मध्य प्रदेश के अंदर उज्जैन से पुलिस के द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया. विकास दुबे और उसके साथियों ने कानपुर के चौबेपुर विक्रम गांव के अंदर 2 जुलाई के दिन सीओ देवेंद्र मिश्रा समेत आठ पुलिस कर्मचारियों की हत्या कर दी थी. तब से लेकर अब तक उत्तर प्रदेश पुलिस विकास दुबे की तलाश में जुटी हुई थी.

विकास दुबे गिरफ्तार,जानिए गिरफ्तारी के समय विकास दुबे क्या बोल रहा था

ऋचा दुबे पर पति विकास दुबे के अपराधों में शामिल होने का आरोप सुनने में आ रहा है. वह अपराधिक घटनाओं में अपने पति का बढ़-चढ़कर साथ देती थी. यह भी आरोप लगे हैं कि पिछले दिनों कानपुर के बिकरू गांव के अंदर पुलिस कर्मचारियों की हत्या किस बड़ी वारदात के अंदर भी उसकी पत्नी शामिल थी और यह घटना घटने के बाद वह एकदम से लापता हो गई थी.

Kanpur Encounter : बऊआ दुबे और प्रभात मिश्रा पुलिस एनकाउंटर में मारे गए, विकास दुबे अभी भी है फरार.

सूत्रों ने बताया है कि ऋचा दुबे गांव स्थित अपने गांव घर के अंदर लगे सभी सीसीटीवी कैमरा को बड़ी चालाकी से अपने मोबाइल फोन के अंदर कनेक्ट कर रखा हुआ था. जिससे वह गांव के अंदर ना रहकर भी गांव की सभी जानकारियां और गतिविधियों के ऊपर नजर रख रही थी. एसटीएफ के सूत्रों ने बताया है कि उसने भी कानपुर उसे भी कानपुर ले जाया जा रहा है जहां उसके पति के सामने उससे पूछताछ की जाएगी.

विकास दुबे ग्रेटर नोएडा में नजर आया, कैसे भागा फरीदाबाद पढ़िए पूरी स्टोरी.

उत्तर प्रदेश पुलिस के विशेष कार्य बल एसटीएफ का एक दल उज्जैन के अंदर बड़ी जल्दी पहुंचा और कुख्यात अपराधी विकास दुबे को उन लोगों ने अपने हिरासत में ले लिया है. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस बात की जानकारी सबको दी है. मध्य प्रदेश पुलिस ने ₹500000 इनाम वाले इस बदमाश को उसके दो साथियों के साथ उज्जैन की एक बहुत ही प्रसिद्ध महाकाल मंदिर के परिसर से पकड़ लिया.

जांच अधिकारियों ने यह बात बताई है कि विकास दुबे को उत्तर प्रदेश पुलिस को सौंप दिया गया है और पुलिस बल विकास दुबे को सड़क मार्ग से उत्तर प्रदेश लेकर जाएगा. विकास दुबे ने पुलिस की शुरुआती पूछताछ के अंदर काफी बड़े खुलासे किए हैं. सूत्रों के मुताबिक उसने यह भी बताया है कि मैं पुलिसकर्मियों की हत्या करने के बाद उन सभी शवों को जलाना भी चाहता था. जलाने के लिए शवों को एक जगह इकट्ठा किया गया था और तेल का इंतजाम भी उनके द्वारा कर लिया गया था.

जालौन जिले के आटा टोल प्लाजा से विकास दुबे को लेकर निकला काफिला करीब 5:38 बजे कालपी का यमुना पुल पार कर कानपुर देहात की सीमा में प्रवेश कर गया।
एट टोल प्लाजा से करीब 42 किलोमीटर दूर जालौन जिले के आटा टोल प्लाजा से विकास दुबे को लेकर काफिला 5.20 बजे निकला। करीब एक घंटे से हो रही तेज बारिश के बीच सुरक्षा को लेकर पुलिस फोर्स पानी में भीगते हुए डटा रहा। आटा टोल से विकास दुबे के निकलने के बाद ही एट टोल से ट्रैफिक खोला गया।

Trending