Connect with us

देश

World Environment Day 2020: विश्व पर्यावरण दिवस हर साल की तरह इस साल क्यों होगा खास

Published

on

World Environment Day 2020
Photo : Social Media

नई दिल्ली 3 मई 2020 ( परमजीत भकना ):- देश मैं हर वर्ष 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता इस दिन को मनाने का मुख्य बड़ा कारण यह है कि व्यक्ति को पर्यावरण के प्रति सचेत करने का एक खास दिन है | हम इंसानों और पर्यावरण के बीच बहुत बड़ा संबंध है. प्रकृति के बिना हमारा जीवन बिल्कुल संभव नहीं है। हम प्रकृति के साथ अपना पूरा तालमेल बिठाते है। विश्व में लगातार वातावरण दिन प्रतिदिन दूषित होता चला जा रहा है. जिसका गहरा प्रभाव हमारे मनुष्यों के जीवन के ऊपर पड़ रहा है.

World Bicycle Day 2020: रोजाना 30 मिनट साइकिल चलाने के क्या बड़े फायदे, आपको मिलेंगे जानिए

साल 1972 के अंदर विश्व पर्यावरण दिवस मनाना शुरू किया गया. संयुक्त राष्ट्र संघ ने 5 जून 1972 को विश्व पर्यावरण दिवस मनाने की पहली बार नींव रखी तब से लेकर अब तक लगातार हर वर्ष 5 जून के दिन विश्व पर्यावरण दिवस बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है।

विश्व पर्यावरण दिवस मनाने की सबसे पहली शुरुआत यूरोप के स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम में हुई थी. यहां पर 1972 में पहली बार पर्यावरण सम्मेलन को आयोजन किया गया था और इस बड़े सम्मेलन के अंदर 119 देश जिन्होंने भाग लिया था।

Priyanka Chopra की बहन को दुष्कर्म करने की धमकी, जूनियर एनटीआर के फैंस ने पोर्न स्टार और वेश्या तक बोल डाला

पूरे विश्व में लगातार बढ़ रहे प्रदूषण के कारण इस दिन को इसीलिए मनाया जाता है और विश्व पर्यावरण दिवस का एक मुख्य उद्देश्य यह है. कि सब लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक किया जाए क्योंकि देश में हर रोज पर्यूषण का लेवल बढ़ता चला जा रहा है. जिसके चलते मनुष्यों को बढ़ते पोलूशन से मुश्किलें बढ़ रही हैं ठीक वैसे ही हमारे पर्यावरण को भी हर रोज बड़ा नुकसान हो रहा है।

मोदी सरकार पर भगवंत मान का तंज, धान की मामूली बढ़ोतरी कर किसानों से किया मजाक

विश्व में जब पहली बार इस खास पर्यावरण दिवस को मनाया गया था. तब भारत की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने भी भारत के अंदर प्रकृति और पर्यावरण के प्रति अपनी चिंताओं को सबके सामने जाहिर किया। उन्होंने भी देश के अंदर पर्यावरण दिवस मनाने का फैसला किया। भारत में पर्यावरण संरक्षण के लिए 19 नवंबर 1986 में पर्यावरण संरक्षण अधिनियम भारत के अंदर लागू किया गया।

भारत में इस साल मनाए जाने वाला पर्यावरण दिवस पिछले सालों से बहुत अलग देखने को मिलेगा। इस वर्ष लॅाकडाउन की वजह से काफी मात्रा में पोलूशन का स्तर गिर चुका है. पिछले वर्ष तक यहां हम पर्यावरण को लेकर अधिक चिंता में नजर आ रहे थे. लेकिन इस साल हमारी चिंताएं कुछ कम हो गई हैं. वह इसलिए क्योंकि वातावरण शुद्ध हो चुका है इसलिए इस बार का पर्यावरण दिवस पिछले वर्ष से काफी अलग होगा। क्योंकि समस्त भारत में लॅाकडाउन की वजह से किसी भी तरह की कोई फैक्ट्री और मोटर गाड़ी सड़कों पर नहीं थी। जिसके चलते पोलूशन नहीं हुआ और पर्यावरण पूरी तरह से स्वच्छ हो गया।

प्रदर्शनकारियों को राष्ट्रपति Donald Trump की धमकी, हिंसा नहीं रुकी तो भेज देंगे अमेरिकी सेना

भारत में लगे लॉक डॉन से पर्यावरण पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है. अब हमारी सबकी जिम्मेदारी यह बनती है कि हम अपनी प्रकृति का पूरा ध्यान रखें विश्व पर्यावरण दिवस को तभी हम पूरी तरह से सफल बना सकते हैं जब हम पर्यावरण का खुद ख्याल रखेंगे। हर व्यक्ति को यह समझना होगा कि जब पर्यावरण पूरी तरह से स्वच्छ और साफ होगा तब ही इस धरती के ऊपर हम सब लोगों के लिए जीवन संभव होगा।

विश्व पर्यावरण दिवस की हमारे सभी पाठकों को हार्दिक शुभकामनाएं

thestatusraja

Trending