Former Foreign Minister Sushma Swaraj dies in Delhi AIIMS
नई दिल्ली (उमाशंकर त्रिपाठी):- भारतीय जनता पार्टी की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) जिनका देर रात दिल्ली में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) एम्स में निधन हो गया सुषमा स्वराज को देर शाम को हार्ट अटैक होने पर ऐम्स लेकर आया गया था उनका परिवार उनको एम्स लेकर पहुंचा था सुषमा स्वराज का 67 वर्ष की थी
टाटा मोटर्स त्योहारों के सीजन में इस गाड़ी को नए बदलाव के साथ लॉन्च कर सकती है
एम्स के सूत्रों के मुताबिक जो खबर निकल कर आ रही है उसमें बताया जा रहा है कि सुषमा स्वराज को रात 10:15 पर हॉस्पिटल लाया गया और उनको सीधा आपातकालीन वार्ड में ले जाया गया सीनियर भारतीय जनता पार्टी की नेता 2016 में गुगुर्दा प्रत्यारोपित किया गया था
पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) की तबीयत बिगड़ने पर रात में एम्स में लाया गया सूचना मिलते ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री, नितिन गडकरी, डॉ हर्षवर्धन, राजनाथ सिंह और स्मृति ईरानी पहुंच गए और आपको बता दें कि पिछले कुछ दिनों से सुषमा स्वराज की तबीयत खराब चल रही है इसी वजह से उन्होंने लोकसभा में चुनाव नहीं लड़ा था
पंजाब 2 दिनों का मानसून इलाज और खर्चा होगा करोड़ों में, क्या असल मुद्दों से कैप्टन अमरिंदर सिंह भाग रहे हैं
सुषमा स्वराज भारतीय जनता पार्टी की टिकट नेत्री दिग्गज नेता थी जिनकी तारीफ विपक्ष के नेता भी खूब किया करते थे उनके अस्वस्थ होने की खबर मिलते ही बीजेपी के कई बड़े नेता और मंत्री इन पहुंच गए इसमें नितिन गडकरी डॉक्टर हर्षवर्धन राजनाथ सिंह और स्मृति ईरानी के अलावा और दूसरे कई मंत्री भी पहुंचे
9 बार सांसद रहे सुषमा स्वराज आम लोगों में बहुत ज्यादा लोकप्रिय थी सुषमा के ट्विटर पर एक करोड़ 20 लाख से अधिक लोग फॉलो करते थे वह दिल्ली की मुख्यमंत्री रही थी सुषमा स्वराज सन 1977 में सबसे कम उम्र की राज्य मंत्री बन गई थी अटल बिहारी वाजपेई के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार में वह सूचना एवं प्रसारण मंत्री और स्वास्थ्य मंत्री भी रहीं हैं
यूपी: मायावती ने कहा सुप्रीम कोर्ट से अब उन्नाव बलात्कार पीड़िता को इंसाफ मिलने की पूरी उम्मीद
बीजेपी की सुषमा स्वराज ने अस्वस्थता के कारण पिछला लोकसभा चुनाव लड़ने का निर्णय लिया था उनके इस निर्णय पर भारतीय जनता पार्टी के ही समर्थक समर्थकों में बड़ी हैरानी कई लोगों ने चुनाव लड़ने की सुषमा को बहुत अपील की थी इस पर सुषमा स्वराज ने अपना जवाब दिया था कि मेरे चुनाव ना लड़ने से कोई फर्क नहीं पड़ता श्री नरेंद्र मोदी जी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों को जिताने में हम सब जी जान लगा देंगे. सुषमा स्वराज ट्विटर पर काफी सक्रिय रहती थीं. विदेश मंत्री रहते हुए वे ट्वीटर पर शिकायत मिलते ही विदेश मंत्रालय से जुड़ीं पासपोर्ट आदि समस्याओं का समाधान कर देती थीं.
16 वीं लोक सभा में सुषमा स्वराज मध्य प्रदेश से विदिशा से सांसद चुनी गई थी सुषमा स्वराज विदिशा लोकसभा क्षेत्र से 2009 का चुनाव भी विजय हुई थी
नशा छुड़ाओ केंद्रों का हाल सुने खुद नशा छुड़वाने आये नौजवानों की जुबानी
मंगलवार के दिन लोकसभा में जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 समाप्त होने और राज्य का पूर्ण गठन होने पर शाम को सुषमा स्वराज (Sushma Swaraj) ने ट्वीट कर कर भारत के पीएम नरेंद्र मोदी को बधाई दी थी उन्होंने लिखा था प्रधानमंत्री जी आपका हार्दिक अभिनंदन मैं अपने जीवन में इस दिन को देखने की प्रतीक्षा कर रही थी
और इससे पहले मंगलवार को राज्यसभा में संकल्प पत्र और बिल पारित होने पर सुषमा स्वराज ने भारतीय गृह मंत्री अमित शाह को भी बधाई दी थी जिसमें उन्होंने लिखा था कि गृह मंत्री श्री अमित शाह जी को उत्कृष्ट भाषण के लिए बहुत-बहुत बधाई इसके अलावा बहुत-बहुत अभिनंदन

बटाला और अमृतसर के बीच स्थित अमृसतर पठानकोट टोल प्लाजा उस समय सुर्खिओं में आ गया

धारा 370 समाप्त करने वाले संकल्प डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान को सच्ची श्रद्धांजलि दी है और इसके साथ उन्होंने यह भी लिखा एक भारत के सपने को साकार किया गया है उन्होंने कहा कि बहुत साहसिक और ऐतिहासिक निर्णय ….श्रेष्ठ भारत एक भारत का अभिनंदन….