MCC
Punjab Captain Amarinder Singh posted 4 ministers inside flood-prone areas in Ropar jalandhar-kapurthala district.
चंडीगढ़ (परमजीत) :- पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपने चार मंत्रियों को बाढ़ ग्रस्त के साथ जूझ रहे रूपनगर, जालंधर, कपूरथला के जिलों के अंदर तैनात कर दिया है. यह मंत्री बचाव कार्य के अंदर जरूरत की सब चीजें जिसमें दवाइयों से लेकर हर चीज को लोगों तक पहुंचाने की निगरानी करेंगे.

तकनीकी शिक्षा मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी एवं व्यापार मंत्री सुंदर शाम अरोड़ा, रोपड़ जिले के अंदर आए बाढ़ से पीड़ित लोगों को मदद देंगे. माल मंत्री गुरप्रीत सिंह कांगड़ एवं खुराक एवं सिविल सप्लाई मंत्री भारत भूषण आशू को जालंधर और कपूरथला जिले के अंदर जिम्मेदारी दी गई है. बाढ़ ग्रस्त इलाकों के अंदर सतलुज दरिया के टूट जाने पूरी तरह से ठीक करने से लेकर पीड़ित लोगों को खाना एवं दवाई आदि मुहैया करवाना एक बड़ी चुनौती बनकर सामने निकल रही है

कैप्टन अमरिंदर ने भाखड़ा बोर्ड को दी क्लीन चिट, बाढ़ को कुदरत की देन बताया

मुख्यमंत्री ने ग्रामीण विकास एवं पंचायत मंत्री तृप्त राजिंदर सिंह बाजवा अथवा पावर कॉम के चेयरमैन को भी बाढ़ ग्रस्त गांव के अंदर बिजली को जल्द से जल्द शुरू करने के लिए जरूरी कदम उठाने के निर्देश जारी किए हैं. पंजाब पुलिस के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बताया कि बाढ़ पीड़ित लोगों की मदद के लिए प्रदेश के आईपीएस ऑफिसर 1 महीने की तनखा मुख्यमंत्री राहत कोष के अंदर दान करने का ऐलान किया है कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बाढ़ ग्रस्त इलाकों की निगरानी के लिए अपने चार मंत्रियों को नियुक्त किया.
भाखड़ा डैम से पानी छोड़े जाने के बाद पंजाब के कई इलाकों में पानी भर गया और जिसके बाद पंजाब के अंदर बाढ़ के हालात पैदा हो गए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बाढ़ से निपटने के लिए काफी अहम कदम उठाए हैं जिसके चलते पंजाब के अंदर राहत कार्य के अंदर तेजी आ चुकी है लेकिन अभी भी पंजाब के कई गांव ऐसे हैं जो अभी भी पानी के साथ पूरी तरह डूबे पड़े हैं
लोगों के मवेशी इस पानी में मर गए हैं और वही ऑपरेशन वालों ने कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार के कार्यों पर भी सवाल खड़े किए हैं देश की नरेंद्र मोदी सरकार ने 10 राज्यों को बाढ़ से निपटने के लिए फंड जारी किया है लेकिन इस 10 राज्यों की लिस्ट में पंजाब का नाम कहीं भी नहीं है इस बात का दुख भी पंजाब के लोगों ने जताया और इसके अलावा पंजाब के लोगों की मदद के लिए विदेशों से भी बहुत सी संस्थाएं लोगों की मदद करने के लिए पहुंच रही हैं