Connect with us

पंजाब

आशिक ने अपनी प्रेमिका की ऐसी तस्वीरें सोशल मीडिया पर अपलोड की,मामला पहुंचा एसएसपी ऑफिस

Published

on

Aashiq uploaded such pictures
Photo: Aaj News Wala ( Jatinder Kundal Gurdaspur )

Gurdaspur ( Jatinder Kundal ):- मामला जिला गुरदासपुर के बटाला के नजदीकी गांव सागरपुर का है. जहां विधवा औरत सभ्याचारक प्रोग्राम (DJ SHOW) करके अपना और अपनी बूढ़ी विधवा माँ का पेट पाल रही है. उस पर उस समय मुस्बितो का पहाड़ टुटा जब उसके आशिक राजीव नंदा जो कि जिला गुरदासपुर के ही गांव कलेर का रहने वाला है. उसके द्वारा अपनी विधवा प्रेमिका की तस्वीर और साथ में उसका मोबाइल नंबर फेस बुक पर अपलोड किया गया जबकि कुछ दिन पहले ही पीड़ित औरत की शिकयत पर पुलिस चौंकी में राजीनामा होता है.

Advertisement

उत्तर प्रदेश में बदमाशों के हौसले बुलंद बेटी के सामने पिता को मारी गोली, 9 गिरफ्तार चौकी इंचार्ज को किया सस्पेंड

राजीनामा होने के बाद दुबारा से पीड़ित औरत की फोटो और मोबाइल नंबर फेसबुक पर अपलोड किया जाता है. जिसकी शिकयत आज अपनी माँ के साथ जब एसएसपी (SSP OFFICE ) दफ्तर पुहंचती है. तो उसको पुलिस द्वारा रखे गए वॉलनटिर अंदर आने से मना करते है. तो महिला द्वारा समाजसेवी संस्था को फ़ोन किया जाता है. लकिन समाजसेवी संस्था की वाईस प्रधान गीता शर्मा को भी पुलिस के वेलांटर ( Police Valentine ) द्वारा अंदर जाने की अनुमति नहीं दी जाती जिसके चलते समाजसेवी गीता शर्मा की तरफ से एसएसपी दफ्तर के बाहर पुलिस को अच्छा भुरा कहा गया |

5 अगस्त को श्री राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए अयोध्या जाएंगे PM मोदी

पीड़ित महिला की विधवा माँ ने बताया कि मेरी लड़की जो विधवा है और कुछ दिनों से किसी राजीव नंदा नामक व्यक्ति जो की गुरदासपुर के कलेर गांव का रहने वाला है मेरी बेटी को फ़ोन करके तंग पेरशान कर रहा है और हमें जान से मारने की धमकी भी दे रहा है. मेरी बेटी की फोटो और मोबाइल नंबर भी उसके द्वारा सोशल मीडिया पर अपलोड किये गए है जिसके चलते मेरी पोती के सुसराल भी लड़की को घर भेजने को कह रहे है. हम पुलिस प्रशासन से निवेदन करते हैं हमें जल्दी से जल्दी हिसाब दिया जाए ताकि हमारे परिवार के ऊपर किसी भी तरह की कोई घटना जा अनहोनी ना घट सके.

इस पूरे मामले में जानकारी देते हुए ह्यूमन राइट्स की वाइस प्रधान गीता शर्मा ने बताया कि पीड़ित महिला को कॉल आती है कि हमने शिकायत दर्ज करवाई है और हमें वॉलेंटर द्वारा अंदर नहीं जाने दिया जा रहा. जब हम एसएसपी दफ्तर पहुंचे तो पुलिस द्वारा रखे गए वॉलेंटर में हमें भी अंदर जाने की अनुमति नहीं दी गई. मैं प्रशासन से पूछना चाहती हूं कि क्या पुलिस सिर्फ अमीर और राजनीतिक लोगों के लिए है. गरीब लोगों के लिए क्या पुलिस नहीं है अगर आज ऐसा होगा तो गरीब आदमी कहां जाएगा.

Photo: माधवी शर्मा (डीएसपी)

इस पूरे मामले के अंदर पुलिस के डीएसपी माधवी शर्मा ने पत्रकारों को बताया कि हमारे पास शिकायत पहुंची है और उस शिकायत के आधार पर हम जांच पड़ताल कर रहे हैं जो भी तथ्य सामने निकल कर आएंगे उसके ऊपर बनती हुई कार्रवाई जरूर की जाएगी. मगर वॉलेंटर पर पूछे गए सवालों का जवाब देने से डीएसपी माधवी शर्मा ने मना कर दिया और कैमरे से भागती हुई नजर आये देखना होगा इन बूढी विधवा मां बेटी को पुलिस इंसाफ देने में सफल होगी या नहीं मैं तो आने वाला वक्त ही बताएगा.

Trending