Connect with us

पंजाब

अब किसानों पर अम्बानी जैसे कारपोरेटों का खतरा, भगवंत मान ने मोदी सरकार की खोली पोल

Published

on

Bhagwant Mann

चंडीगढ़ (परमजीत) 20 मई:- आम आदमी पार्टी पंजाब के प्रधान एवं संसद मेंबर भगवंत मान (Bhagwant Mann) ने केंद्र की मोदी सरकार (Modi Govt.) पर खेती सेक्टर को तबाह करने और इसको अंबानी परिवार (Ambani Family) को बड़ा फायदा देने के बड़े गंभीर दोष लगाएं | इसके साथ ही भगवंत मान ने बादल परिवार (Badal family)और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Capt. Amarinder Singh) के ऊपर भी बड़े तीखे हमले किए. भगवंत मान ने मंगलवार के दिन राजधानी में मीडिया के साथ वार्ता की जिसमें उन्होंने केंद्र सरकार की तरफ से करोना काल के दौरान बहुत से ऐसे फैसले लिए गए |

Advertisement

पंजाब में 50% यात्री कर सकेंगे सफर

जिनके ऊपर उन्होंने कहा इन सभी बड़े ऐलान में गरीबों के साथ धोखा हुआ है किसान, मजदूर की बर्बादी के लिए कॉरपोरेटर्स परिवारों को वरदान दिया गया है | भगवंत मान ने कहा कि के मुताबिक राज्य के अधिकार के ऊपर बड़ा डाका मारने पर मोदी सरकार ने कांग्रेस पार्टी को भी मात दे दी. इस वार्ता के दौरान भगवंत मान ने बादल परिवार से सवाल किया |

बरगाड़ी एवं दूसरे मामले “चाचा भतीजा” के लिए आने वाले दिनों में खतरे की घंटी बन सकते हैं

जब पंजाब और हरियाणा के निजी परिवारों के विपणन ढांचे को ध्वस्त करके एक मंडी के नारे के तहत खुले विपणन या एक राष्ट्र ने पंजाब की मंडियों में खतरनाक प्रवेश की योजना बनाई थी. तब हरसिमरत कौर बादल ने विरोध क्यों नहीं किया जब संविधान के मुताबिक कृषि, भूमि और आंतरिक बाजार प्रबंधन के साथ राज्य सूची में, बादल और कैप्टन ने कृषि उत्पाद बाजार समिति अधिनियम में केंद्र के तानाशाही हस्तक्षेप का विरोध क्यों नहीं किया? ई-मंडी और अब पंजाब की मंडियों में निजी कंपनियों की सीधी एंट्री क्यों?

चक्रवर्ती तूफान तेजी के साथ तट की तरफ बढ़ता हुआ, बिहार में नहीं पहुंचाएगा ज्यादा नुकसान

आम आदमी पार्टी पंजाब के अध्यक्ष भगवंत मान ने कहा कि मोदी सरकार ने फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन के साथ बुनियादी (MSP) को खत्म करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है और अगर मोदी ने पंजाब के अंदर एक कृषि क्लस्टर स्थापित करने की तैयारी की है, तो अगर सरकार को यह घातक कदम उठाने से नहीं रोका गया, तो किसानों, मजदूरों, कारीगरों, मजदूरों, ट्रांसपोर्टरों की बर्बादी निश्चित है।

अमेरिका : बराक ओबामा बेहद “अयोग्य राष्ट्रपति” थे : डॉनल्ड ट्रंप

भगवंत मान ने कहा कि कोरोनावायरस के नाम पर, मोदी सरकार ने 80% निर्णय खुद किए जबकि इन सभी फैसलों के लिए संसद की मंजूरी बहुत आवश्यक है। लेकिन केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा की गई सभी बड़ी घोषणाओं में, गरीबों और श्रमिकों के लिए कुछ भी नहीं निकला, गरीबों और मजदूरों के लिए अगर कुछ नजर आया है तो नंगे पांव खाली पेट भूख से लड़ते हुए सड़कों पर चलते पैदल मजदूरों की असली तस्वीर को पूरी दुनिया ने देखा जो 70 साल के राज्य करना जो 70 साल से शासक वर्ग के चेहरे पर एक तमाचा है।

Trending