Connect with us

पंजाब

मनप्रीत बादल कहते हैं पंजाब एक गरीब राज्य है, तालाबंदी ने देश को 10 साल पीछे धकेल दिया है

Published

on

बठिंडा 31 मई ( परमजीत

):- पंजाब एक ऐसा प्रदेश है जिसने कोविड-19 से बचने के लिए केंद्र सरकार से पहले पंजाब के अंदर कर्फ्यू को लगा दिया था | पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने यह फैसला लेने के बाद अपनी ही सरकार की पीठ को थपथपा था। लेकिन अब कैप्टन अमरिंदर सिंह के ही वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल का यह मानना है कि पंजाब के अंदर लॉकडाउन करने का फैसला बहुत ज्यादा नुकसानदायक साबित हुआ | पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल कल बठिंडा के अंदर व्यापार जगत के लोगों के साथ मुलाकात करने के लिए पहुंचे थे.

लॉकडाउन 5.0: भारत को 3 चरणों के अंदर अनलॉक किया जाएगा, इसमें क्या खुला मिलेगा

इस दौरान उन्होंने पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कहा कि पंजाब में लॉकडाउन लगा जिसके चलते व्यापार का करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है और भारत देश 10 साल पीछे चला गया है | पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने कहा कि लॉक अमीर राज्यों के लिए लगाना चाहिए था. पंजाब एक गरीब प्रदेश है | जहां पर ज्यादातर लोग मेहनत मजदूरी करने के बाद अपना पेट भरते हैं | इसीलिए पंजाब के अंदर ज्यादा समय के लिए लॉकडाउन को नहीं रखा जा सकता।

PM मोदी के Manki bat कार्यक्रम में इस बार क्यों है खास, इन्हीं बातों पर आधारित

पंजाब के अंदर दूसरे राज्यों से आए श्रमिक मजदूरों को भी अब बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है | जिसके अंदर केंद्र सरकार की नाकामयाबी साफ देखने को मिल रहे हैं रही है | पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने पंजाब के प्रमुख शासन सचिव कारन अवतार सिंह की तरफ से माफी मांगे जाने के ऊपर कहा कि जब कोई आदमी किसी से तीन बार माफी मांग लेता है तो उसको माफ करने वाला बड़ा होता है. लेकिन पंजाब के एक्साइज विभाग से करन अवतार को हटा दिया गया है और एक्साइज विभाग की एक नई नीति तैयार की गई है जो घाटे में नहीं बल्कि लाभ में होगी।

Trending