Connect with us

पंजाब

कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ प्रताप सिंह बाजवा ने खोला मोर्चा, गुरदासपुर में जहरीली शराब पीकर मरने वालों के परिजनों के साथ बातचीत करने पहुंचे

Published

on

Pratap Singh Bajwa
Photo: Partap Singh Bhjwa ( Facebook )

Gurdaspur ( Jatinder Kundal ) :- बाजवा और दुलो ने आवाज उठाई तो ही पांच महीनों के बाद कुम्भकर्ण नींद से जागा और अपने महल से बाहर निकल लोगो से मिलने तरन तारन पहुंचा यह कहना है प्रताप सिंह बाजवा का जो जहरीली शराब से मरने वालों के पीडत परिवारो से मिलने बटाला पहुंचे इस मौके बाजवा ने जाखड़ को आड़े हाथों लेते हुए सकुनी मामा कहा जो पार्टी में एक दुसरे को लड़वाने का काम दिखाई करते  दे रहे है इस मौके एम एल ए बलविंदर सिंह लाडी समेत दुसरे स्थानीय नेता भी मौजूद रहे 

Advertisement

जहरीली शराब मामले को लेकर और पकड़ी गई महिला को लेकर सियासत गरमाई

इस मौके बाजवा ने कहा के जहरीली शराब घटना को लेकर मुख्य मंत्री ने खुद कबूल किया है के यह कत्ल हुए है और जिम्मेदारी भी मुख्य मंत्री की बनती है और वही उनका कहना था के मैं और दुलो  पंजाब राज्यपाल को मिले है और हमने वहां यह कहा था के नजायज डिस्टलरी में नजायज शराब बनाकर बेची जा रही है और पंजाब सरकार के।खजाने को तीन सालों में 2700 करोड़ का चुना लगाया गया है

प्रताप सिंह बाजवा ( राज्य सभा सदस्य कोंग्रेस 

इस डिस्टलरीओ मे नजायज काम पुलिस अधिकारीओ और एक्ससाइज अधिकारिओ की मिलीभूगत से किया जा रहा है वही तीन नजायज डिस्टलरी पकड़ी गई जो के राजपुरा,खन्ना और घनोड में पकड़ी गई लेकिन इनको मशीनरी कहा से मिली बिजली का कनेक्शन किसने दिया और उसके मालिक कौन थे इस पर तो कुछ नही हुआ और वहां से पकड़े गए कुछ काम करने पकड़े गए वह सात दिन बाद जमानत पर बाहर आ गए

ही बाजवा ने कहा के अगर बाजवा और दुलो आवज उठाने के बाद ही कुम्भकर्ण पांच महीने बाद अपने महल से बाहर निकल तरन तारन लोगो से मिलने पहुंचा है और इस मौके बाजवा ने जाखड़ को आड़े हाथों लेते हुए सकुनी मामा कहते हुए कहा के जाखड़ पार्टी में एक दुसरे को लड़वाने का काम  करते दिखाई  दे रहे है लेकिन अध्यक्ष का काम होता है के पार्टी में सभी का मेल जोल बनाये रखना  वही बाजवा ने कहा मुख्य मंत्री को इस घटना की  को लेकर सी बी आई जांच का स्वागत करना चाहिये वही बाजवा ने कहा के दुलो के बयान के अगर सोनिया गांधी कहेंगी तो वह अस्तिफा दे देंगे और बाजवा भी दुलो के साथ रहेंगे

वही बाजवा की सुरक्षा कर्मियो पर जाखड़ दुआरा उठाये सवाल को लेकर बाजवा ने कहा के आतंकवाद के दौर में बाजवा और दुलो पर आतंकी हमले हो चुके है और साथ ही इनके परिवारिक सदस्यो की आतंकी हमलों में जाने भी जा चुकी है इस लिए बाजवा को सुरक्षा मिली है और जब सुरक्षा हटाई गई थी तब गुलाम नबी आजाद के दुआरा लिखे पत्र के चलते ही दुबारा बाजवा को सुरक्षा मुहैया हुई हैं वही बाजवा ने जाखड़ के बयान के पार्टी को बाजवा और दुलो को बाहर रास्ता दिखाने चाहिये पर बाजवा ने जाखड़ को ललकारते हुए कहा के जाखड़ , बाजवा और दुलो सोनिया गांधी के पास चलते है और वहां देखते है के पार्टी जाखड़ को बाहर का रास्ता दिखती है या फिर बाजवा और दुलो को बाहर का रास्ता दिखाती है   

Trending