Connect with us

पंजाब

Punjab ने शराब पर Covid Cess लगाया, ₹2 से ₹50 तक कीमत बढ़ी

Published

on

चंडीगढ़ 2 जून 2020 ( परमजीत भकना ):- पंजाब के अंदर करोना वायरस महामारी और लंबे टाइम से लॉकडॉन (Lockdown) की वजह से हुए भारी वित्तीय नुकसान का सामना करते हुए. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Captain Amarinder Singh) ने सोमवार को 1 जून से शराब के ऊपर को कोविद सेस (Covid Cess) लगाने की मंजूर दे दी है | इस कदम के साथ प्रदेश के अंदर चालू वित्तीय साल के अंदर 145 करोड रुपए ज्यादा मालिया प्राप्त होगा |

मोदी सरकार ने किसानों को कर दिया खुश, धान की MSP में 53 रुपये की वृद्धि की.

प्रदेश के अंदर वित्तीय साल 2020 और 21 के लिए 26000 करोड रुपए के घाटे का सामना करना पड़ रहा है जो कुल बजट अनुमान का 30% है | इसलिए, अतिरिक्त राजस्व उत्पन्न करने के लिए कुछ कठोर उपायों की आवश्यकता होती है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि 12 मई से गठित की गई मंत्रियों की सिफारिश को स्वीकार करते हुए मौजूदा वित्तीय साल के दौरान शराब पर अतिरिक्त उत्पाद शुल्क और अतिरिक्त मूल्यांकन शुल्क लगाने का निर्णय लिया गया है।

लॉकडाउन 5 में लोगों को मिली काफी राहत, पंजाब रोडवेज की बसें शुरू हुईं

शराब के परिवहन के लिए परमिट जारी करते समय आबकारी और कराधान विभाग को चालू वर्ष में उपकर लगाने का निर्देश देना। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है | कोविद से संबंधित खर्चों के लिए अतिरिक्त कर आय का पूरा उपयोग किया जाएगा।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इससे पहले पंजाब के वित्त मंत्री शिक्षा मंत्री मकान एवं शहरी विकास मंत्री और वन और वन्यजीव मंत्री शामिल कर मंत्रियों के समूह को बिक्री के लिए विशेष सेंस और कोविद सेस लगाने का प्रस्ताव की पड़ताल करने के लिए कहा था | इस संकट के व्हिच कार संकट के बीच में होने वाले कुछ वित्तीय नुकसान के लिए शराब पर उपकर लगाने का निर्णय लिया गया है।

मनप्रीत बादल कहते हैं पंजाब एक गरीब राज्य है, तालाबंदी ने देश को 10 साल पीछे धकेल दिया है

सरकार की सिफारिशों के अनुसार, आबकारी और कराधान विभाग ने नीचे दिए गए विवरण के अनुसार आयातित विदेशी शराब पर अतिरिक्त मूल्यांकन शुल्क और आयातित बीयर और अन्य प्रकार की शराब पर अतिरिक्त उत्पाद शुल्क लगाने का निर्णय लिया है।

thestatusraja

Trending