Connect with us

पंजाब

बहबल कला गोली कांड, मामले में पंजाब पुलिस ने तीसरा व्यक्ति गिरफ्तार किया

Published

on

Punjab Police arrested third person
Photo: Social Media

फरीदकोट 21 जून 2020 बहबल कला ( Behbal Kalan

Advertisement
) गोली गोलीबारी मामले के अंदर एक और बड़ी सफलता दर्ज करते हुए पंजाब पुलिस की विशेष जांच टीम एसआईटी (SIT) ने शनिवार को दोषी पुलिस कर्मचारियों के साथ मिलकर साजिश बनाने वाले आतम रक्षा की झूठी कहानी तैयार करने के दोष में पंकज मोटर मोगा के मालिक को गिरफ्तार कर लिया है.

Today International Yoga Day : मोदी सरकार कुछ खास ढंग से इसे मना रही है

इस मामले के अंदर इसी हफ्ते पुलिस ने जो कार्रवाई की है उसमें पहले दो और अब तीसरी गिरफ्तारी पुलिस के द्वारा की गई है. जिसके अंदर पूर्व एसएसपी मोगा चरणजीत शर्मा मुख्य आरोपी हैं और उनके साथी सोहेल सिंह बराड़ को विशेष जांच टीम ने 16 जून को गिरफ्तार किया था जो कल तक पुलिस हिरासत में है. चरणजीत शर्मा फिलहाल सेहत ठीक ना होने की वजह से उनको जमानत दे दी गई है.

रवनीत बिट्टू ने अकाल तख्त के जत्थेदार के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग

एसआईटी के मुख्य जांचकर्ता आईजी कवर विजय प्रताप सिंह ने बताया कि पंकज मोटर के मालिक पंकज बंसल जिसकी इस घटना के वक्त फरीदकोट के अंदर एक ऑटोमोबाइल वर्कशॉप है. उसके अंदर चरणजीत शर्मा की पुलिस जिप्सी पर गोली गोलियां चलाने के दोष मुलजिमजो को बचने की झूठी कहानी तैयार करके जानबूझकर मदद देने के लिए गिरफ्तार किया गया है. मुलजिम पंकज को कल आज अदालत में पेश किया जाएगा। एसआईटी जांच के दौरान यह पाया गया है कि पुलिस फायरिंग की घटना के बाद पंकज बंसल ने इस केस के अंदर झूठे सबूत तैयार करते वक्त मुलजिम पुलिस कर्मचारियों की मदद करने के अंदर मुख्य भूमिका निभाई है.

Daily Hukamnama Sri Darbar Sahib Amritsar,Golden Temple 21 June 2020, ਅੱਜ ਦਾ ਹੁਕਮਨਾਮਾਂ

एसआईटी की जांच के अनुसार बरगाड़ी एवं दूसरी जगहों पर श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी की बेअदबी होने की घटनाओं के बाद जब 14-10 -2015 को बाइबिल कला के अंदर शांति में ढंग से धरने पर बैठे निर्दोष प्रदर्शनकारियों के ऊपर फायरिंग हुई. इस फायरिंग के लिए जिम्मेवार पुलिस टीम ने अपनी सुरक्षा के लिए एक साजिश की कहानी तैयार की अपने हक के अंदर उन्होंने अपनी रक्षा करने की कहानी को साबित करने के लिए उस वक्त की मोगा के एसएसपी चरणजीत शर्मा की पायलट जिप्सी पर मुलाजिमों ने खुद गोलियां चलाकर झूठे सबूत तैयार कर लिए.
आपको बता दें कि इस एसआईटी का गठन इस साल के शुरू में कोटकपूरा एवं बहबल कला के अंदर फायरिंग मामले की जांच करने के लिए किया गया था.

Trending