Robert Vadra

लखनऊ (उमाशंकर त्रिपाठी):- प्रदेश में लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सभी पार्टियों के उम्मीदवारों को अपने उम्मीदवारों को मैदान में उतारने की तैयारी में हैं वहीं कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई रॉबर्ट वाड्रा ने फेसबुक के जरिए पूरे देश को यह बताने की कोशिश किया कि वह राजनीति में आएंगे लेकिन अब कुछ खबरें ऐसी भी निकल कर आ रहे हैं कि रॉबर्ट वाड्रा राजनीति में आएंगे ऐसा कुछ भी नहीं है लेकिन वही रॉबर्ट वाड्रा ने एक बार फिर से अपनी यह इच्छा जताई है कि वह राजनीति में आना चाहते हैं सोमवार के दिन रोबट वाड्रा ने मीडिया से ही बात कही कि भविष्य में इस दिशा के अंदर चलने की कोशिश करेंगे और रविवार ने कहा कि रॉबर्ट वाड्रा ने कहा कि राजनीति में आने के लिए उनको किसी भी तरह कोई जल्दबाजी नहीं है

समय आने पर उसका फैसला लेंगे आपको बता दें कि रॉबर्ट वाड्रा ने रविवार को फेसबुक के जरिए पोस्ट को शेयर किया और इसमें लिखा संकेत दिया कि वह राजनीति के अंदर आना चाहते हैं लोगों की सेवा करना चाहते हैं और लोगों के बीच रहकर देश की और जनता की सेवा करने का उनका मन है और उसके बाद मुरादाबाद से लोकसभा चुनाव लड़ने की अटकलें लग रही थी हालांकि कांग्रेस ने तुरंत ही उसके बयान को खारिज करते हुए यह बात कही कि वाड्रा एनजीओ के जरिए लोगों की सेवा करने में इच्छा रखते हैं

अपने बयान को इसी सदैव से देखा जाना चाहिए कांग्रेस के इशारे के बाद सोमवार को रॉबर्ट वाड्रा ने फिर से राजनीति में आने की अटकलों को हवा दे दी है रॉबर्ट वाड्रा ने राजनीति में आने के सवाल पर का सबसे पहले तो मैं अपने ऊपर लगे आरोपों से मुक्त होना चाहता हूं लेकिन हां इस पर काम करना जरूर शुरू करने वाला हूं इसके लिए तीन तरह की जल्दबाजी इस तरह इसके लिए किसी भी तरह की जल्दबाजी नहीं करूंगा लोगों को यह महसूस करना चाहिए कि मैं भी कुछ बदलाव ला सकता हूं यह सब वक्त की बात है रविवार की बात करें तो रॉबर्ट वाड्रा ने अपनी फेसबुक के ऊपर एक पोस्ट लेकर उत्तर प्रदेश की राजनीति में उतरने का बड़ा संकेत दिया था और रॉबर्ट वाड्रा ने उत्तर प्रदेश से ख़ास लगाव का जिक्र भी करते हुए यह बात कही कि वह भविष्य में आने वाले मैं भविष्य में अपने लिए बड़ी भूमिका देख रहे हैं तो अब देखना पड़ेगा कि कांग्रेस पार्टी रॉबर्ट वाड्रा को राजनीति में आने के लिए कितनी आसान रहा बना कर देगी