PUNJAB:_आम आदमी पार्टी से बाहर किए जाने के बाद विधायक सुखपाल सिंह खैरा ने केजरीवाल के ऊपर एक बड़ा शब्द ही निशाना लगाया और का के पंजाब के लोगों एक उम्मीद बचा के रखी है और इस उम्मीद से वह देख रहे हैं कि पंजाब में आगे क्या होगा सुखपाल सिंह बागी अब काली अकाली नेताओं से तालमेल करना शुरू कर दिया है और दूसरी तरफ पार्टी से निकाले जाने की खबर में सुखपाल सिंह खैरा के दोस्त और आम आदमी पार्टी के विधायक कंवर संधू की सारी स्कीम चौपट हो करेंगे नाभा के अंदर अपने पुराने स्कूल के एक प्रोग्राम के दौरान पहुंचे हुए थे और जब उन्होंने इस खबर को सुना तो यह खबर सुनते ही सुखपाल सिंह खैरा ने ट्विटर पर जाकर अपने दिल की बात ऐसी बोली

भविष्य के अंदर अब कौन सी नई रणनीति तैयार की जाएगी इसके बारे में सुखपाल सिंह खैरा ने कहा कि पंजाब के लोगों से बातचीत की जाएगी और उनकी राय ली जाएगी जैसे पंजाब की जनता चाहेगी वैसे एक विचारधारा बना कर के कुछ नया कदम उठाया जाएगा उन्होंने कहा भी किसी भी कदम को वह जल्दबाजी में नहीं उठाना चाहते और सब से विचार-विमर्श करने के बाद ही आम आदमी पार्टी से निकाले गए यह लोगों की क्या रणनीति रहेगी यह जानने के लिए पंजाब के लोग बड़ी बेसब्री से उत्सुक हैं

सुखपाल सिंह खैरा केजरीवाल के ऊपर बरसते हुए भोले कि आम आदमी पार्टी के अंदर आपसी एकता का महेश ड्रामा किया जाता है और कुछ नहीं जबकि केजरीवाल सब लोगों को धोखा दे रहे हैं और केजरीवाल को एक तानाशाह नेता बताएं और पार्टी के अंदर जैसी बेकद्री पंजाब की इन लोगों ने की है वैसी बेकद्री कभी भी कहीं नहीं हुई मोर आपको बता दें कि बीते जुलाई में सुखपाल सिंह खैरा को विधानसभा के अंदर अप पोजीशन का लीडर पद से हटा दिया गया था जिसके बाद सुखपाल सिंह खैरा और उनके बाकी साथी इस चीज का विरोध कर रहे थे और उन्होंने कहा था कि हमारी मांग है कि दिल्ली के लीडर पंजाब की आम आदमी पार्टी को पूरे पावर दें और पंजाब के लीडर ही पंजाब के लिए सही फैसले करें लेकिन इस पर दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कोई जवाब नहीं दिया था

सुखपाल सिंह खैरा ने देश और विदेश में बैठे सभी आम आदमी पार्टी के सपोर्टर और आम आदमी पार्टी को चाहने वाले सभी लोगों को अपील की है कि वह बिल्कुल चिंता ना करें कि सुखपाल सिंह खैरा और अमर संधू को पार्टी से बाहर कर दिया गया लेकिन वह अभी पंजाब के लिए अपनी लड़ाई लड़ते रहेंगे और वह आप सब का साथ चाहते हैं तो अब देखना होगा कि सुखपाल सिंह खैरा आने वाले वक्त में क्या नई रणनीति तैयार करेंगे क्योंकि पंजाब के अंदर और पूरे देश में विधानसभा के चुनाव तकरीबन हो चुके हैं अब लोकसभा की तैयारी चल रही है और ऐसे में आम आदमी पार्टी के अंदर ऐसा एक बड़ा बदलाव आम आदमी पार्टी के लिए मुश्किल खड़ी कर सकता है और शायद आपको पता हो कि आम आदमी पार्टी का जन्म पंजाब से हुआ था जब पंजाब में आम आदमी पार्टी के चार लोकसभा चुनाव में जीत कर दिल्ली की सत्ता में अपनी दस्तक दे दी थी और जिसके बाद आम आदमी पार्टी दिन प्रतिदिन बढ़ती चली जा रही थी लेकिन अब आम आदमी पार्टी के लिए मुश्किल आ गई