Sunny Deol with Hema Malini will not sit in Parliament, why not?

नई दिल्ली (उमाशंकर त्रिपाठी):- फिल्मी नगरी से 2019 के लोकसभा चुनाव में बहुत से ऐसे बॉलीवुड के सितारे जिन्होंने अपनी किस्मत को आजमाया और तकरीबन तकरीबन सभी बॉलीवुड स्टार इस लोकसभा चुनाव में सफल भी हुए और इसी क्रम में बॉलीवुड एक्टर सनी देओल और बॉलीवुड की एक्ट्रेस हेमा मालिनी इन दोनों ने भी लोकसभा चुनाव 2019 में अपनी किस्मत को आजमाया और विजई हुए और आपको बता दें कि दिग्गज अभिनेता धर्मेंद्र के बेटे हैं सनी देओल जो पंजाब के गुरदासपुर लोकसभा सीट के ऊपर कांग्रेस की सुनील जाखड़ को भारी मतों से मात दे गए और वहीं दूसरी तरफ हेमा मालिनी की बात करें तो वह उत्तर प्रदेश के मथुरा से चुनाव लड़ी और वहां पर हेमा मालिनी भी भारी मतों के साथ विजई हुई और अब लोकसभा चुनाव जीतने के बाद दोनों ही सांसद लोकसभा में अपनी मौजूदगी को दर्ज करवाएंगे लेकिन खास बात यह है कि यह दोनों ही एक साथ नहीं बैठेंगे अब इसके पीछे ऐसी क्या वजह है कि सनी देओल और हेमा मालिनी इकट्ठे नहीं बैठेंगे तो आइए जान लीजिए

बॉलीवुड अभिनेता सनी देओल और हेमा मालिनी दोनों के सांसद के साथ साथ दोनों ही संसद भवन में साथ साथ नहीं बैठेंगे इसके पीछे की वजह यह नहीं कि दोनों के रिश्तो में कोई खटास चल रही है बल्कि दोनों इकट्ठे नहीं बैठ सकते इसके पीछे कोई और ही बात है और वह है हेमा मालिनी सीनियर सांसद हैं और वही सनी देओल अभी नए नए सांसद बने हैं और वह पहली बार संसद के अंदर अपनी एंट्री ले रहे हैं इसलिए हेमा मालिनी सांसद मैं आगे की तरफ मौजूद सीटों के ऊपर बैठेगी जबकि नवनिर्वाचित सांसद सनी देओल को पीछे की सीटों के ऊपर बैठना पड़ेगा क्योंकि वह पहली बार जीतकर सांसद पहुंचे हैं

सनी देओल ने पहली बार चुनाव लड़ा है और वह भी पंजाब से गुरदासपुर सीट जहां पर कांग्रेस पार्टी के पंजाब प्रधान सुनील जाखड़ इस सीट के ऊपर पहले ही मौजूद थे और खास बात यह है कि सनी देओल ने जीत सीट के ऊपर चुनाव लड़ा है वह भाजपा की पारंपरिक सीट है और इसी सीट के ऊपर खासतौर पर फिल्म अभिनेता विनोद खन्ना चुनाव लड़ा करते थे लेकिन विनोद खन्ना के निधन के बाद यह आशंका थी कि अब गुरदासपुर लोकसभा सीट के ऊपर सनी देओल की पत्नी भाजपा की टिकट लेकर लोकसभा चुनाव लड़ेगी लेकिन पार्टी ने विनोद खन्ना की पत्नी को टिकट देकर धर्मेंद्र के बेटे बॉलीवुड एक्ट्रेस एक्टर सनी देओल को टिकट देने का फैसला किया और यह कहा जा सकता है कि यह फैसला बीजेपी की तरफ से काफी अच्छा साबित हुआ क्योंकि भारी मतों के साथ सनी देओल गुरदासपुर लोकसभा सीट को जीत चुके हैं

बॉलीवुड एक्टर सनी देओल ने चुनाव लड़ने से पहले लोकसभा चुनाव की पूरी तरह से तैयारी कर रखी थी जिसके चलते वह गुरदासपुर संसदीय क्षेत्र के चप्पे-चप्पे में जाकर आम लोगों को मिले और इस संसदीय क्षेत्र के अंदर आ रही समस्याओं को जल्द से जल्द निपटाने के लिए एक लिस्ट को भी तैयार कर चुके हैं और अब देखना होगा कि सांसद चुने जाने के बाद वह गुरदासपुर संसदीय क्षेत्र के लोगों की उम्मीदों के ऊपर कितना खरे उतरेंगे लेकिन यह बात तय है कि सनी देओल हेमा मालिनी के साथ बैठे नजर नहीं आएंगे हेमा मालिनी संसद भवन के अंदर पहली कतार में बैठेगी और सनी देओल सांसद भवन के अंदर पिछली कतारों के ऊपर बैठे नजर आएंगे