The Delhi government
The Delhi government refused to prosecute Kanhaiya Kumar for treason, a big blow to the Delhi Police.
नई दिल्ली:- ( Parmjeet Bhakna ):- दिल्ली की अरविंद केजरीवाल आम आदमी पार्टी की सरकार ने दिल्ली पुलिस की उस मांग को सिरे से खारिज करने जा रही है | जिसमें दिल्ली पुलिस ने जेएनयू (JNU) के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष “कन्हैया कुमार” पर देशद्रोह का मुकदमा चलाने की अनुमति मांगी थी | दिल्ली सरकार के सूत्रों के मुताबिक जो खबर निकल कर सामने आ रही है | उसमें यह कहा जा रहा है कि इसी मामले में दिल्ली पुलिस ने जो सबूत पेश किए हैं उसके आधार पर देशद्रोह का मामला नहीं बनता है | अदालत ने इस पूरे मामले पर 18 सितंबर को सुनवाई हो सकती है | 9 फरवरी 2016 को कन्हैया कुमार समेत कुल 10 छात्रों ने जेएनयू (JNU) के अंदर राष्ट्रीय विरोधी नारे लगाने का आरोप लगा था |

पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम की तिहाड़ जेल की पहली रात कैसी थी..?

जबकि दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने जनवरी 2019 में इस मामले में अदालत के अंदर चार्जशीट दाखिल की थी | अदालत ने दिल्ली पुलिस को फटकार लगाते हुए यह बात कही थी. कि देशद्रोह का मुकदमा चलाने की दिल्ली सरकार की मंजूरी क्यों नहीं मांगी थी | आपने इसके बाद दिल्ली पुलिस ने दिल्ली सरकार से देशद्रोह का मुकदमा चलाने की अनुमति अरविंद केजरीवाल की सरकार से मांगी | दिल्ली सरकार ने स्टैंडिंग काउंसिल राहुल मेहता ने भी दिल्ली सरकार को यह सलाह दी थी कि इस मामले में जो सबूत पुलिस के द्वारा पेश किए गए हैं | उसके आधार के ऊपर कन्हैया कुमार समेत 10 आरोपियों के ऊपर देशद्रोह का मुकदमा नहीं चलाया जा सकता |

Chandrayaan 2: चांद की सतह पर लैंड करने से पहले ही इसरो स्टेशन से संपर्क टूटा, पीएम मोदी ने वैज्ञानिकों को फिर भी बधाई दी

इस सलाह को दिल्ली सरकार ने अब मान लिया है वहीं अब इस मामले में राजनीतिक गर्माना तय हो गया है | दिल्ली भारतीय जनता पार्टी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने इस मामले में 2:00 बजे एक बड़ी प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करनी है

Chandrayaan 2 Alia Bhatt: आलिया भट्ट सोशल मीडिया पर ट्रॉल्स किए जा रहे है,चंद्रयान 2′ को लेकर

आपको बता दें कि जेएनयू के पूर्व छात्र संघ के नेता “कन्हैया कुमार” के ऊपर देश विरोधी नारे लाने का चार्ज लगा है और दिल्ली पुलिस ने अपनी चार्जशीट में कन्हैया कुमार से 10 लोगों के नाम कोर्ट में दाखिल किए थे | मगर कोर्ट की फटकार के बाद एक बार फिर से दिल्ली पुलिस को अरविंद केजरीवाल के पास आना पड़ा. इस बात की अनुमति लेने के लिए कि इन लोगों के ऊपर देशद्रोह का मुकदमा होना चाहिए | आपको बता दें कि कन्हैया कुमार ने अपने राज्य से लोकसभा का चुनाव लड़ा था. जिसमें वह हार गए थे |
उनके सामने “भारतीय जनता पार्टी” के “कद्दावर नेता गिरिराज सिंह” थे जिनको वह हराने में नाकाम रहे | लेकिन लोकसभा चुनाव के अंदर कन्हैया कुमार को आम आदमी पार्टी की अच्छी खासी सपोर्ट मिली थी. तो अब विरोधी दल इस बात को लेकर भी सवाल खड़े कर रहा है कि अरविंद केजरीवाल जानबूझकर इस केस को बंद करवाना चाहते हैं | अब देखना होगा कि भारतीय जनता पार्टी के दिल्ली से प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी अब क्या बड़ा फैसला लेने की तैयारी में है |