Unnao Rape Case Chief Justice Ranjan Gogoi victim to CAPF Security and compensation of 25 Lak
उत्तर प्रदेश (उमाशंकर त्रिपाठी Parmjeet Bhakna ):- उन्नाव रेप मामले में चल रही सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने एक बड़ा सवाल किया है कि पीड़िता के चाचा जेल के अंदर क्यों हैं इस बात पर पीड़िता के वकील ने बताया है कि उन्हें 2001 में प्राथमिकी में दोषी ठहराया गया इसी साल जुलाई के महीने में उन्हें कोर्ट के द्वारा दोषी पाया गया उनकी अपील लंबित है और वह रायबरेली जेल में इस वक्त बंद है

यूपी: मायावती ने कहा सुप्रीम कोर्ट से अब उन्नाव बलात्कार पीड़िता को इंसाफ मिलने की पूरी उम्मीद

इस बात पर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने उत्तर प्रदेश सरकार से पीड़िता के चर्चे के मामले में रिपोर्ट तलब की मांग की है और इसके साथ ही चीफ जस्टिस ने यह भी कहा है कि पीड़िता के चाचा को रायबरेली जेल से शिफ्ट करने की आवश्यकता है
चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने सभी केसों को दिल्ली में ट्रांसफर करने के साथ ही निचली अदालत को भी 45 दिन का वक्त दिया है और इसी टाइम के अंदर ट्रायल पूरा करने का आदेश जारी किया इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने पीड़िता को 25 लाख रुपये की आर्थिक मदद और सभी पीड़ितों को सीआरपीएफ सुरक्षा देने के निर्देश जारी कर दिए

Navjot Sidhu को Delhi में नहीं सकती है एक खास और अहम जिम्मेदारी

सुप्रीम कोर्ट ने पीड़ित परिवार को सीआरपीएफ सुरक्षा देने का आदेश दिया है और इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश योगी आदित्यनाथ सरकार को आदेश जारी किया है कि पीड़िता को 25 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाए
उन्नाव रेप और पीड़िता के साथ एक्सीडेंट मामले में सुप्रीम कोर्ट ने इस केस में दो बार सुनवाई हुई चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने इस मामले में सख्त रुख अपनाते हुए सभी केस को लखनऊ से दिल्ली ट्रांसफर कर दिया है और इसके अलावा अदालत ने यह भी आदेश जारी किया है कि पीड़िता के एक्सीडेंट की जांच सीबीआई 1 हफ्ते के अंदर पूरा करें

पाकिस्तान से शुरू होने जा रहे अन्तराष्ट्रीय नगर कीर्तन का बटाला की टूटी सड़के करेंगी स्वागत