नई दिल्ली (उमाशंकर त्रिपाठी):- जम्मू कश्मीर के पुलवामा में बड़े आतंकी हमले में सीआरपीएफ के जवानों के ऊपर बड़ा आत्मघाती हमला हुआ जिसमें 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए और भारत और पाकिस्तान के बीच पैदा हुए तनाव को अब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने बयान में बेहद खतरनाक बताएं राष्ट्रपति डॉक्टर ने कहा कि उनको लगता है कि इस मामले के अंदर वक्त आने पर भारत कुछ बहुत बड़ा करने की सोच रहे हैं और उन्होंने कहा किसी के साथ पाकिस्तान के अंदर जो टेररिज्म पनप रहा है उसको भी खत्म करना चाहिए डॉलर ट्रंप ने पाकिस्तान को आड़े हाथ लेते हुए यह बात भी कही कि अमेरिका द्वारा पाकिस्तान को दी जाने वाली मदद का वह गलत इस्तेमाल कर रहा है डॉलर ट्रंप ने कहा कि पाकिस्तान को दी जाने वाली 1.3 बिलियन डालर की मदद तत्काल प्रभाव से रोक दी है वह मदद पाकिस्तान को नहीं दी जाएगी

अमेरिका के वाशिंगटन ऑफिस में पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने यह बात बताई कि इस समय भारत और पाकिस्तान के बीच बेहद खतरनाक चल रही है यह भी बताया कि इस वक्त भारत पाकिस्तान के बीच खतरनाक चीजें तैयार हो रही है यह एक बहुत बहुत खराब जीती है और भारत और पाकिस्तान के बीच हालात बेहद खराब है और हम सब लोग यह चाहते हैं कि यह बंद होना चाहिए क्योंकि कुछ ही दिन पहले कई लोग मारे गए थे अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपने बयान में आगे यह भी कहा कि भारत को बहुत कड़ा भारत बहुत कड़ा कुछ करने का सोच रहा है अमेरिका की शक्ति से करने के ऊपर बड़ा विचार कर रहा है और भारत ने अभी अभी अपने 50 लोगों को खोया है और इसके बारे में उन्होंने कहा कि बहुत से लोग ऐसी बातें कर रहे हैं

लेकिन यह बहुत नाजुक बैलेंस चल रहा है उन्होंने कहा कि अभी जो कुछ कश्मीर के अंदर हो रहा है इस वक्त से इस वजह भारत और पाकिस्तान के बीच काफी दिक्कतें हैं और यह बहुत ही खतरनाक होने वाला है और आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए पाकिस्तान आतंकवादी संगठन जैसे मोहम्मद ने इसकी जिम्मेवारी थी और जैश-ए-मोहम्मद के कुख्यात आतंकी मौलाना मसूद अजहर इस हमले की जिम्मेदारी ली और इस आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच सीधे तौर पर बहुत सी बातें निकलकर सामने भारत ने पाकिस्तान को इस पूरे मामले के अंदर जिम्मेवार ठहराया और भारत ने तुरंत कार्यवाही करते हुए पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीन लिया. इसके अलावा पाकिस्तान से आने वाले सामानों पर इंपोर्ट ड्यूटी को 200 फीसदी तक बढ़ा दिया गया है.

अमेरिका न्यूजर्सी के रॉयल अल्बर्ट पैलेस के अंदर भारतीय समुदाय के लोगों ने वहां इकट्ठे होकर पाकिस्तान मुर्दाबाद के जमकर नारे लगाए इस तरह न्यूयॉर्क मैं 22 फरवरी को पाकिस्तान काउंसलेट के सामने भी 100 से ज्यादा लोग जमा हो गए थे और उन्होंने भी जम्मू-कश्मीर के पुलवामा हमले की जमकर निंदा की और बड़ा विरोध प्रदर्शन पाकिस्तान काउंसलेट के बाहर किया था