लखनऊ (उमाशंकर त्रिपाठी):- बहुजन समाजवादी पार्टी की प्रमुख मायावती ने उन्नाव गैंगरेप पीड़िता द्वारा चीफ जस्टिस को लिखे पत्र को उसके सामने नहीं खोले जाने पर सुप्रीम कोर्ट के रुख का पुरजोर स्वागत किया है और बुधवार को कहा कि इससे उउस युवती को इंसाफ मिलने की उम्मीद जाग गई है
बसपा सुप्रीमो “मायावती” ने ट्वीट किया ‘उन्नाव बलात्कार’ पीड़िता और उसके परिवार की हत्या का प्रयास और मुकदमों की वापसी के लिए विधायक द्वारा दी गई धमकी का आरोप काफी गंभीर मामला है जिसका माननीय सुप्रीम कोर्ट द्वारा संज्ञान लिए जाना अति स्वागत योग्य है मायावती ने कहा कि वह इसके लिए माननीय सुप्रीम कोर्ट का शुक्रिया अदा करती हैं इससे पीड़िता को न्याय मिलने की उम्मीद जगी है
बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक दूसरे ट्वीट में यह बात कही कि अभियुक्त भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी का लगातार संरक्षण मिल रहा है और यह बात किसी से भी नहीं छुपी है यही कारण है कि सीबीआई के पास यह मामला किसी ना किसी बहाने लंबे समय से लम्बित है खुद ने हादसे का शिकार होकर मरणासन्न है
माननीय सुप्रीम कोर्ट ने अपने रजिस्ट्रार जनरल से बुधवार के दिन एक रिपोर्ट मांगी जिसमें उन्नाव बलात्कार पीड़िता की ओर से चीफ जस्टिस रंजन गोगोई लिखा पत्र उनके सामने क्यों नहीं रखा गया इस पत्र में पीड़िता ने अपनी जान के खतरे की आशंका भी जताई थी.
माननीय रंजन गोगोई ने यह कहा ‘‘दुर्भाग्यवश, पत्र अभी सामने नहीं आया है और इसके बावजूद समाचार अखबार पत्र ने ऐसे प्रकाशित किया है कि जैसे मैंने इसे पढ़ लिया हो बाल दुष्कर्म मामला में मामलों में न्यायमित्र के तौर पर कोर्ट की सहायता कर रहे वरिष्ठ वकील वी गिरी ने उत्तर प्रदेश के उन्नाव बलात्कार मामले को तत्काल सूचीबद्ध यह जाने की एक बड़ी अपील भी की थी जिसके बाद कोर्ट ने यह टिप्पणी कर दी
पीड़िता के दुर्घटनाग्रस्त होने पर उत्तर प्रदेश के अधिकारियों से बृहस्पतिवार तक स्थिति रिपोर्ट पेश करने को भी कहा.
भारतीय जनता पार्टी के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर 2 साल पहले उनके अपने आवाज में एक लड़की के साथ बलात्कार करने का गंभीर आरोप है मामले की पीड़िता रविवार को रायबरेली में हुए कार हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गए
उन्नाव गैंगरेप पीड़िता इस हादसे में जहां खुद गंभीर रूप से जख्मी है उनके साथ उनके वकील वह भी घायल हो चुके हैं और पीड़िता के परिवार के दो सदस्यों की मौत हो गई महिला के परिवार ने इस हादसे के पीछे षड्यंत्र होने का आरोप लगाया और इस मामले की शिकायत पुलिस के पास दर्ज करवा दी है