Connect with us

विदेशी

पूरी दुनिया के अंदर भारी तबाही के साथ भीषण भुखमरी का कारण बन सकती है, कोविड-19 महामारी

Published

on

UN Secretary General Antonio Guterres
Photo By Twitter : António Guterres

नई दिल्ली (30 मई) परमजीत:- कोविड-19 मारी इस वक्त पूरी दुनिया के अंदर बहुत ज्यादा तबाही कर रही है और इसके साथ साथ भीषण भुखमरी और अकाल का कारण भी बन सकती है. इस वैश्विक महामारी का डटकर मुकाबला किया जा रहा है और दुनिया भर के सभी देश इसके साथ लड़ रहे हैं | इस बीमारी को खत्म करना होगा तभी इस वैश्विक महामारी से पैदा होने वाली तबाही अकाल भुखमरी को पूरी तरह से रोका जा सकता है | इस सभी बातों इन सभी बातों की चिंता संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुतारेस ने सबके सामने जारी किया है |

अमेरिका से चीन के स्नातक स्तर के छात्रों को, देश से निकाला जा सकता है

उन्होंने कहा कि दुनिया भर के देशों को चेतावनी दी जाती है. कि कोविड-19 महामारी अकल्पनीय तबाही का कारण बन सकती है. इस बीमारी से भीषण भूख और अकाल की शुरुआत हो सकती है. साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि इस महामंदी का अगर सब देशों ने मिलकर जवाब नहीं दिया। तो वैश्विक उत्पादन के अंदर $8500 की भारी कमी हो जाएगी।

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुतारेस ने गुरुवार के दिन विकास के लिए वित्तीय पोषण पर उच्चस्तरीय कार्यक्रम के अंदर संबोधित करते हुए कहा हमें इससे बचना होगा। महामारी ने हमारी कमजोरी को सामने ला दिया है | हाल के दशकों की सभी तकनीकी और वैज्ञानिक प्रगति के बावजूद हम एक सक्षम वायरस के कारण एक अभूतपूर्व मानवीय संकट के अंदर हैं | संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुतारेस ने कहा की एकजुटता के साथ ही इस अभूतपूर्व संकट का जवाब देने के लिए इस जरूरत पर जोर दिया।

1 जून से केवल यात्री ही, Toronto Pearson International Airport में प्रवेश कर पाएंगे.

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुतारेस यह भी कहा कि यदि हम अभी कोई कार्रवाई नहीं करेंगे तो कोविड-19 महामारी दुनियाभर के अंदर अकल्पनीय तबाही और पीड़ा की वजह बन जाएगा। भयानक भूख और अकाल की स्थिति पैदा होगी. 6 करोड से अधिक लोग अत्यधिक गरीबी के चलते करीब आधा वैश्विक कार्यबल यानी 1.6 अरब लोग पूरी तरह से बेरोजगार हो जाएंगे
जिनके पास कोई भी नौकरी नहीं होगी।

संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुतारेस ने कहा कि महामारी के चलते वैश्विक उत्पादन के अंदर 8,500 अरब अमेरिकी डॉलर तक की कमी हो सकती है. जो 1930 की महामंदी के बाद सबसे तेज कमी दर्ज की गई. उसके बाद में जमैका के प्रधानमंत्री एंड्रयू होल्नेस और कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रेस वार्ता के अंदर संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुतारेस ने यह बात भी बताई कि दुनिया कोई भी बड़ी कमजोरियों से पीड़ित है |

Trudeau ने महामारी से लड़ने के लिए वैश्विक सहयोग का आह्वान किया

मसलन कमजोर स्वास्थ्य प्रणाली, जलवायु परिवर्तन, और इसके साथ असमानता अपने चरम पर है संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुतारेस ने कहा कि हम इन कमजोरियों के संकेत अन्य जगहों पर भी जाकर देख सकते हैं. जैसे परमाणु प्रसार के बढ़ते जोखिम से लेकर साइबरस्पेस की अराजकता तक हम इन चेतावनी को अनदेखा करेंगे तो मूर्खतापूर्ण अहंकार है. हमें अस्तित्व के खतरे से निपटने के लिए विनम्रता एकता और एकजुटता की जरूरत है |

Trending