Connect with us

विदेशी

भारत चीन सीमा विवाद पर अमेरिकी राष्ट्रपति का यह बयान, चाइना की मुश्किलें बढ़ा सकता है.

Published

on

US President Donald Trump's
Photo : social Media

नई दिल्ली ( उमाशंकर त्रिपाठी

Advertisement
):- भारत और चीन की सेना के दरमियान पिछले दिनों हिंसक झड़पें हुई जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए. गलवान घाटी में भारत और चीन के सैनिकों कि इस हिंसक घटना के बाद दोनों देशों के अंदर तनाव बढ़ गया है. भारत और चीन के रिश्तो में अब तल्खी आ चुकी है और इस पर अमेरिका नजर बनाए हुए हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने बयान में कहा है कि भारत और चीन से वह बातचीत कर रहे हैं.

ट्रंप ने कहा कि स्थिति बहुत ही मुश्किलों भरी है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपने बयान में यह भी कहा हम भारत और चीन से लगातार बातचीत कर रहे हैं. उन दोनों देशों के बीच बड़ी समस्या हो गई है. उनके बीच झड़पें हो रही हैं हम देखेंगे कि इस पूरे मामले पर हम क्या कर सकते हैं. हम पूरी कोशिश करेंगे और उनकी मदद भी करेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आधिकारिक बयान, चीन ने अपनी सोशल साइटों से हटा दिया.. क्यों डरा चीन

आपको बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इससे पहले बीते माह भारत और चाइना के बीच सीमा विवाद को लेकर मध्यस्था की पेशकश की थी. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा था कि अमेरिका भारत और चीन के बीच सीमा पर चल रहे विवाद को मध्यस्था करवाने के लिए पूरी तरह से तैयार है हालांकि अमेरिका की पेशकश को भारत और चीन ने सिरे से ठुकरा दिया था.

आप सब को यह भी बता दे जब से भारत और चीन के अंदर सीमा पर विवाद चला है तब से ही अमेरिका लगातार इन दोनों देशों के ऊपर नजर बनाए हुए हैं. पिछले कुछ दिनों में व्हाइट हाउस की ओर से एक इस मामले पर एक बयान जारी किया गया था. जिसमें अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि हमारी नजर बनी हुई है और हम चाहते हैं कि जल्द भारत और चाइना की सरहदों पर शांति हो जाए

Today International Yoga Day : मोदी सरकार कुछ खास ढंग से इसे मना रही है

आपको यह भी बता दें कि इस वक्त करोना वायरस और ट्रेड वार समेत कई दूसरे मामलों के ऊपर अमेरिका और चीन के अंदर तनातनी बनी हुई है और एक तरह का कोल्ड वार चाइना और अमेरिका के बीच चल रहा है. अमेरिका पुराने वक्त से भारत का एक बड़ा सहयोगी रहा है. ऐसे में इस तनाव के माहौल के अंदर अमेरिका की ओर से लगातार भारत के हक में बयानबाजी की जा रही है.

जिससे यह संकेत साफ तौर पर देखने को मिल रहे हैं कि भारत और अमेरिका के रिश्तो में काफी मजबूती है जिसके चलते चैनल भी अब चीन भी अब इस चीज को समझने लगा है और अब उम्मीद जताई जा रही है. कि जल्द भारत और चीन के दरमियान सब कुछ ठीक हो जाएगा.

Trending